MP Bus Fire: डंपर से टक्कर के बाद बस में लगी आग, 13 लोगों की जलकर मौत, CM मोहन यादव ने मुआवजे का ऐलान किया

Bhopal News: गुना जिले के बजरंगगढ़ थाना क्षेत्र में बुधवार रात दोहाई मंदिर के पास एक डंपर की टक्कर के बाद बस में लगी आग में 12 लोग जिंदा जल गए। डंपर के चालक की भी आग की चपेट में आने से मौत हो गई।
Bus Fire
Bus FireSocial Media

भोपाल, हि.स.। गुना जिले के बजरंगगढ़ थाना क्षेत्र में 27 दिसंबर की देर रात एक डंपर और बस की टक्कर हो गई। घटना दोहाई मंदिर के पास हुई। टक्कर के बाद बस में भीषण आग लग गई, इस आग में जलकर 13 लोगों की मौत हो गई। डंपर के चालक की भी आग की चपेट में आने से मौत हो गई। जिला प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है। हादसे में करीब 16 लोग झुलस गए, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आग ने पूरी बस को अपनी चपेट में ले लिया

जानकारी के अनुसार, सिकरवार ट्रेवल्स की बस बुधवार रात 8 बजे गुना से आरोन जा रही थी। 32 सीटर बस में 30-35 यात्री सवार थे। रात करीब 8:30 बजे आरोन रोड पर बजरंगगढ़ में दुहाई मंदिर के पास यह हादसा हुआ। घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि बस और डंपर में टक्कर के बाद बस पलट गई और उसमें आग लग गई। देखते ही देखते आग ने पूरी बस को अपनी चपेट में ले लिया। घटना के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। कुछ यात्रियों ने बस के दरवाजे, खिड़की से कूद कर जान बचाई। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। कुछ देर बाद मौके पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंची।

आग इतनी तेजी से फैली कि कुछ लोगों को बाहर निकलने का मौका ही नहीं दिया

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर आसपास के लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों की मदद से बस में फंसे लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन बस में आग इतनी तेजी से फैली कि कुछ यात्री बाहर नहीं निकल पाए। जानकारी मिलते ही गुना कलेक्टर तरुण राठी और पुलिस अधीक्षक विजय खत्री भी घटनास्थल पर पहुंच गए और घायलों को एंबुलेंस और अन्य वाहनों से जिला अस्पताल पहुंचाया।

शव एक-दूसरे से चिपक गए थे
हादसे में कुल 13 लोगों की मौत हुई है। बस के अंदर से जो शव निकाले गए, उनमें से सात शव एक-दूसरे से चिपके हुए थे। इनको बाहर निकालने तक में कर्मचारियों के हाथ कांप रहे थे। शव ऐसे जले कि उनकी पहचान करना मुश्किल है।

मुख्यमंत्री ने दुर्घटना की जांच के आदेश दिए
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने बस दुर्घटना की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इस तरह की दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को बस दुर्घटना में मृतकों के परिवारों को 4-4 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता देने के निर्देश दिए हैं।

गुना कलेक्टर तरुण राठी ने बताया कि जांच जारी है। मृतकों की पहचान नहीं हुई है। अस्पताल में भर्ती कई यात्रियों की हालत गंभीर है। उन्होंने बताया कि प्रशासन की प्राथमिकता शवों को बरामद करना और घायलों का इलाज करना है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.