गरीब, युवा, महिलाएं, किसान...मेरे लिए सबसे बड़ी जाति, भारत संकल्प यात्रा, वर्चुअल संवाद के दौरान बोले- PM मोदी

New Delhi: PM नरेंद्र मोदी ने आज 'विकसित भारत संकल्प यात्रा' के लाभार्थियों से वर्चुअली बातचीत की। पीएम ने जन औषधि केंद्रों की संख्या 10,000 से बढ़ाकर 25,000 करने के लिए भी एक कार्यक्रम की शुरुआत की।
Bharat Sankalp Yatra
Bharat Sankalp YatraRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 'विकसित भारत संकल्प यात्रा' के लाभार्थियों से वर्चुअली बातचीत की। पीएम ने जन औषधि केंद्रों की संख्या 10,000 से बढ़ाकर 25,000 करने के लिए भी एक कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने महिला किसान ड्रोन केंद्र का भी शुभारंभ किया। पीएम ने जन औषधि केंद्रों की संख्या 10,000 से बढ़ाकर 25,000 करने के लिए भी एक कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने महिला किसान ड्रोन केंद्र का भी शुभारंभ किया।

मुझे भी आशीर्वाद देना होगा

पीएम मोदी ने इस बीच अरुणाचल के एक लाभार्थी से बात की तो उन्होंने पीएम और सरकार की काफी तारीफ की। उन्होंने कहा कि मुझे घर बनाने में सरकार ने बहुत मदद की। ये बात सुनकर पीएम मोदी ने खुशी जताई और कहा कि जब आपको लाभ हुआ है तो मुझे भी अब आशीर्वाद देना होगा। 

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि इस यात्रा में हम उन सभी लाभार्थियों को शामिल करेंगे और उन्हें सूचित करेंगे, जो उनके उत्थान और कल्याण के लिए मोदी जी द्वारा प्रदान की गई सुविधाओं से अनजान हैं।

महिलाओं द्वारा ड्रोन चलाने पर पहले सबको संदेह था

पीएम मोदी ने आगे कहा कि जब महिलाओं द्वारा ड्रोन चलाने के लिए प्रशिक्षण देने की शुरुआत की गई तो इस योजना को लेकर बहुत से लोगों ने संदेह जताए थे। पीएम ने रमन अम्मा जी से बात करते हुए कहा कि इन जैसी महिलाओं ने साबित कर दिया कि ड्रोन कृषि में तकनीक के दायरे से आगे बढ़कर महिला सशक्तिकरण का भी एक प्रतीक बनकर उभरेगा। 

उन्होंने कहा कि ये सभी पूरे देश के लिए एक प्रेरणा हैं। विकसित भारत की इस संकल्प यात्रा में आप जैसी महिलाओं की भागीदारी बहुत ही अहम है।

जन औषधि केंद्र से लोगों के बचे हजारों रुपये

पीएम मोदी ने कहा कि अच्छी दवाई और सस्ती दवाई, ये बहुत बड़ी सेवा है। उन्होंने कहा कि जितने लोग मुझे सुन रहे हैं, उनसे मेरा आग्रह ​है कि जन औषधि केंद्र के बारे में लोगों को बताइए।

पीएम ने कहा कि दवाइयों पर जो खर्च पहले 12-13 हजार का होता था, वह जन औषधि केंद्र की वजह से सिर्फ 2-3 हजार हो रहा है यानी 10 हजार रुपये आपकी जेब में बच रहे हैं।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.