India-Maldives: PM मोदी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर मालदीव ने दी सफाई, कहा- ऐसा दोबारा नहीं होगा

New Delhi: मालदीव के विदेश मंत्री मूसा ज़मीर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ उनके मंत्रियों द्वारा अपमानजनक टिप्पणी की घटनाओं को दोबारा नहीं दोहराने का आश्वासन दिया है।
India-Maldives Bilateral Talk
India-Maldives Bilateral Talk Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। मालदीव के विदेश मंत्री मूसा ज़मीर ने 9 मई को भारत दौरे पर पहुंचे। उन्होंने नई दिल्ली में विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू बहुत जल्द भारत की यात्रा पर आने की संभावना है। उन्होंने इस बात का भी आश्वसन दिया कि मालदीव के मंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नहीं बोलेंगे।

जल्द भारत दौरे पर आ सकते हैं राष्ट्रपति मुइज्जू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर मालदीव के विदेश मंत्री मूसा ज़मीर ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं होगी। राष्ट्रपति मुइज्जू की जीत के बाद भारत नहीं बल्कि चीन के दौरे पर मुइज्जू के फैसले का बचाव करते हुए मूसा ज़मीर ने कहा कि पहले भारत दौरे को लेकर नई दिल्ली के साथ चर्चा हुई थी लेकिन दोनों पक्षों की सुविधा को देखते हुए इसे टाल दिया गया। उन्होंने आगे कहा कि हमने राष्ट्रपति मुइज्जू के भारत दौरे को लेकर नई दिल्ली से चर्चा की थी। लेकिन दोनों पक्षों की सुविधा के लिए हमने सोचा कि इसमें थोड़ा विलंब करना ठीक होगा। चीन से लौटने के बाद राष्ट्रपति मुइज्जू तुर्की के दौरे पर भी गए थे। इस दौरान मालदीव और तुर्की के बीच हथियरों को लेकर अहम डील पक्की हुई। उन्होंने कहा कि भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ चर्चा के दौरान उन्होंने जल्द ही मुइज्जू की नई दिल्ली यात्रा आयोजित करने की बात कही है।

चीन का किया जिक्र

मालदीव के विदेश मंत्री मूसा ज़मीर ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि चीन के साथ मालदीव का कोई सैन्य समझौता नहीं हुआ। राष्ट्रपति मुइज्जू की बात को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि हम मालदीव में किसी भी विदेशी सेना को मंजूरी नहीं देंगे। इसके अलावा जयशंकर और ज़मीर ने अपनी बातचीत के दौरान मालदीव के उपर बढ़ते ऋण से राहत मिलने के उपायों पर भी चर्चा की। मूसा ज़मीर ने कहा कि भारत के साथ आर्थिक सहयोग मालदीव की अर्थव्यवस्था के लिए बेहद जरुरी है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.