MGNREGA Fund: CM ममता बनर्जी ने PM मोदी से की मुलाकात, कहा- MGNREGA फंड के मुद्दे को सुलझाने पर की चर्चा

New Delhi: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के लिए लंबित केंद्रीय निधि पर चर्चा करने के लिए बुधवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की।
PM Modi, CM Mamta Banerjee
PM Modi, CM Mamta BanerjeeRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के लिए लंबित केंद्रीय धन जारी करने पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। बैठक के बाद, बनर्जी ने साझा किया कि प्रधानमंत्री ने लंबित मुद्दों के समाधान के लिए राज्य और केंद्रीय अधिकारियों के साथ एक संयुक्त बैठक का सुझाव दिया। मीडिया से बात करते हुए, बनर्जी ने उल्लेख किया कि 155 केंद्रीय टीमें पहले ही पश्चिम बंगाल का दौरा कर चुकी हैं लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं हुआ है।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ममता को दिया जवाब

बनर्जी ने मनरेगा श्रमिकों को भुगतान करने की संवैधानिक बाध्यता पर प्रकाश डाला और निराशा व्यक्त की कि 2022-23 के बजट में 100 दिनों के काम के लिए धन आवंटित नहीं किया गया। संबंधित नोट पर, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पहले केंद्र से बकाया जीएसटी बकाया के दावों का खंडन किया था, और कथा को "गलत नाम" करार दिया था। सीतारमण ने स्पष्ट किया था कि पश्चिम बंगाल सहित राज्यों को अभी भी अपने महालेखा परीक्षक (एजी) की रिपोर्ट जमा करनी है। विशेष रूप से, पश्चिम बंगाल ने वित्तीय वर्ष 2019-20 से 2022-23 की पहली तिमाही के लिए एजी की रिपोर्ट जमा नहीं की है, जिससे धन जारी करने में बाधा उत्पन्न हो रही है।

अभिषेक बनर्जी ने दिया था धरना

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में राजभवन के सामने अभिषेक बनर्जी ने मनरेगा फंड को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ कुछ दिन पहले । शुक्रवार दोपहर 11:30 बजे से एक बार फिर अभिषेक बनर्जी मंच पर आ गए हैं। कोलकाता और आसपास के बड़े तृणमूल नेता मंच पर आने लगे हैं। उनके साथ कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम और पार्टी के अन्य नेता भी मौजूद रहे। रात भर गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखा गया गीत बजता रहा।

अभिषेक बनर्जी ने राज्यपाल से दो सवालों का जवाब मांगा

अभिषेक की मौजूदगी की वजह से यहां सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था कर दी गई है। राज भवन के उत्तरी गेट पर बने मंच को और मजबूत किया जा रहा है। बारिश का मौसम है इसलिए कोई समस्या ना हो इसको ध्यान में रखते हुए मंच की छावनी को भी बदला गया है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.