Vikat Sankashti Chaturthi: गणेश भगवान के इन शक्तिशाली मंत्रों का करें जाप, बाधाओं का होगा अंत

Vikat Sankashti Chaturthi: विकट संकष्टी चतुर्थी आज 27 अप्रैल को सुबह 08 बजकर 17 मिनट पर शुरू होगी। आज के दिन भगवान गणेश की पूजा अर्चना करने से भगवान प्रसन्न होते है।
Mantra of Vikat Sankashti Chaturthi
Mantra of Vikat Sankashti Chaturthiwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।27 April 2024। विकट संकष्टी का त्यौहार बाधाओं को दूर करने और खुशियों की प्राप्ति के लिए भक्तों द्वारा मनाया जाता है। आज के दिन भगवान गणेश की पूजा अर्चना करने से सभी प्रकार की परेशानियों का अंत होता है। इसीलिए गणेश भगवान की पूजा करते समय आपको उनके मंत्रों का भी जब करना चाहिए।

विकट संकष्टी चतुर्थी का महत्व

हर दिन गणेश भगवान की पूजा अर्चना होती है। गणेश भगवान को सभी देवताओं से प्रथम स्थान प्राप्त है। इसी वजह से सबसे पहले उनका ही नाम लिया जाता है। लेकिन चतुर्थी के दिन उनकी पूजा अर्चना करने का महत्व थोड़ा बढ़ जाता है।बैसाख माह के कृष्ण पक्ष में पढ़ने वाली चतुर्थी की विकट संकष्टी चतुर्थी कहलाती है।इस दौरान, भक्त उपवास रखते हैं और भगवान गणेश की पूजा करते हैं। साथ ही चंद्रमा की भी पूजा की जाती है। इस प्रकार भगवान गणेश की पूजा करने से बाधाओं और विघ्नों को दूर करते है।

पूजा विधि

सुबह स्नान के बाद व्रत का संकल्प लेकर भगवान गणेश की जल चढ़ाएं। भगवान को रोली,अक्षत,सुपारी,जनेऊ,सिन्दूर,पुष्प,दूर्वा आदि से पूजा करें। फिर प्रसाद लगाकर दीप-धूप से उनकी आरती उतारें।आरती के समय उनके पिता भगवान शिव, माता पार्वती,भाई कार्तिकेय, का ध्यान भी अवश्य करना चाहिए। आरती के बाद चढ़ाया हुआ प्रसाद सबको दे और स्वयं भी ग्रहण करें।

इन मंत्रों का करें जाप

ॐ वक्रतुण्डैक दंष्ट्राय क्लीं ह्रीं श्रीं गं गणपते वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा'

ॐ ग्लौम गौरी पुत्र, वक्रतुंड, गणपति गुरु गणेश।

ग्लौम गणपति, ऋद्धि पति, सिद्धि पति. करो दूर क्लेश ।।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गण्पत्ये वर वरदे नमः

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्तिः प्रचोदयात”

गणपूज्यो वक्रतुण्ड एकदंष्ट्री त्रियम्बक:।

नीलग्रीवो लम्बोदरो विकटो विघ्रराजक :।।

धूम्रवर्णों भालचन्द्रो दशमस्तु विनायक:।

गणपर्तिहस्तिमुखो द्वादशारे यजेद्गणम।।'

ॐ श्रीं गं सौभाग्य गणपतये।

वर्वर्द सर्वजन्म में वषमान्य नम:।।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.