Pregnancy Tips: लापरवाही से बढ़ेगा बर्थ डिफेक्ट का रिस्क, प्रेग्नेंसी से पहले इन बातों का रखें ध्यान

प्रेग्नेंसी में कुछ बातों का ध्यान रखकर बर्छ डिफेक्ट से बचा जा सकता है।
Pregnancy Tips
Pregnancy Tips Pixabay

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क | प्रेगनेंसी में महिलाओं को सावधान रहने की खास सलाह दी जाती है। आज के समय में टेक्नाॅलाजी में बढ़ोतरी हो रही है। उतना ही प्रदूषण बढ़ रहा है। महिलाओं के जीवन में भी कई तरह के बदलाव हो रहे हैं। ये सभी फैक्टर्स की वजह बन सकते हैं। किसी भी तरह के बर्थ डिफेक्ट को इग्नोर करना है तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

बर्थ डिफेक्ट जन्म के दौरान स्ट्रक्चरल बदलाव को माना जाता है। बर्थ डिफेक्ट होने की वजह से ग्रसित बच्चों के हार्ट, ब्रेन, स्पाइन, स्किन आदि में सामान्य से अलग स्ट्रक्चर नजर आना शुरु हो जाता है। बर्थ डिफेक्ट की वजह से बाॅडी में बनावट आर्गन्स के फंक्शन पूरी तरह से प्रभावित हो जाते हैं।

जनवरी को नेशनल बर्थ डिफेक्ट अवेयरनेस मंथ के तौर पर मनाते हैं। इस महीने के दौरान बर्थ डिफेक्ट को लेकर जरुरी जागरुकता फैलानी की कोशिश हो रही है। बर्थ डिफेक्ट को अवाइड करना है तो कुछ टिप्स का ध्यान रखने से लाभ मिल जाएगा।

फोलिस एसिड का करें सेवन

फोलिक एसिड काफी जरुरी है। ये आपकी बाॅडी में बर्थ डिफेक्ट को कम करने में अहम भूमिका निभाता है। ब्रेन में स्पाइन की दिक्कत। ऐसे बर्थ डिफेक्ट प्रेगनेंसी के दौरान शुरु हो जाते हैं। आपको कंसीव करना है तो एक महीने पहले सही मात्रा में फोलिक एसिड लेना जरुरी है।

दवा बंद करने से पहले लें डाक्टर की सलाह

प्रेगनेंसी का प्लान किया है तो सेहत की जांच करवाना जरुरी है। आपको कोई स्वस्थ से जुड़ी हुई दिक्कत है तो डाॅक्टर से संपर्क कर सकती है। कंसीव के पूर्व आप कोई दवा बंद करना या फिर कोई दवा नहीं लेना चाहती हैं तो डाॅक्टर की सलाह ले सकती हैं।

शराब और सिगरेट से करें परहेज

प्रेगनेंसी में अगर महिलाएं शराब का सेवन कर रही हैं तो ये ब्लडस्ट्रीम से होकर बच्चों में एंबिलिकल कार्ड तक चला जाता है। प्रेगनेंसी के दौरान शराब का सेवन करना ठीक नहीं है। ये बर्थ डिफेक्ट के खतरे को बढ़ाता है।

वैक्सीनेशन का रखें खास ख्याल

प्रेगनेंसी के पहले सुनिश्चित करना चाहिए कि आप वैक्सीन लगवा चुके हैं। वैक्सीन ना लगाना भी चाइल्ड बर्थ डिफेक्ट की वजह बन सकता है। प्रेगनेंसी के पहले इसका इस्तेमाल जरुर करें।

वेट मैनेजमेंट का रखें ध्यान

अगर आपको डायबिटीज हो चुकी है और आप प्रेगनेंसी की योजना बना रही हैं तो डाॅक्टर के संपर्क में रहने से आपको लाभ मिलता है। अगर प्रेगनेंसी के दौरान शुगर लेवल बढ़ने लगता है। ऐसे में आपको डाॅक्टर की संपर्क में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल के लिए कुछ बातों का खास ध्यान देना चाहिए।

Related Stories

No stories found.