G20 Summit: जी 20 देशों में अफ्रीकन यूनियन को को किया गया शामिल, पीएम मोदी ने यूनियन लीडर को दी बधाई

दिल्ली में चल रहे जी 20 सम्मेलन के दौरान अफ्रीकन यूनियन को शामिल किया गया। इस दौरान यूनियन लीडर का ताली बजाकर स्वागत किया गया।गौरतलब हो कि, इसको शामिल करने का प्रस्ताव पीएम ने रखा था।
जी 20 देशों में शामिल हुआ अफ्रीकन यूनियन
जी 20 देशों में शामिल हुआ अफ्रीकन यूनियनSocial Media

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क| जी-20 सम्मेलन की शुरुआत हो चुकी है। वहीं नई दिल्ली भी ने खूब सजावट के साथ महमानोंं का स्वागत किया। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हर भारतीय पर नजर टिकी हुई है। वहीं एक प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। जिसके बाद से हर कोई खुश लग रहा है। पीएम मोदी ने अफ्रीकन यूनियन को जी 20 देशों में शामिल करने की बात कही थी। आज अफ्रीकन यूनियन को शामिल कर लिया गया है।

जी 20 सम्मेलन में इस फैसले के बाद हर कोई उत्साहित लग रहा है। ये प्रस्ताव को सभी सदस्य देशों द्वारा स्वीकार किया गया। शिखर सम्मेलन में सदस्य को संबोधित करने के पीएम मोदी ने कहा, 'आप के समयोग से, मैं अफ्रीकी संघ को जी20 में शामिल होने को लकेर आमंत्रित कर रहा हूं।'

इसके बाद विश्व नेताओं की तालियां बजाना शुरु कर दिया। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कोमोरोस संघ के राष्ट्रपति के अलावा अफ्रीकी संघ के अध्यक्ष औसमानी को जी 20 के सदस्य के साथ बैठने की व्यवस्था की गई। प्रधानमंत्री मोदी ने उत्साहित होकर अफ्रीकी संघ के अध्यक्ष को मुस्कुराते हुए गले लगाया। इसके बाद उनको बधाई दी गई। सम्मेलन के आरंभ होने के पहले ही अफ्रीकन यूनियन के शामिल होने की बात हो रही थी।

विशाल है अफ्रीकन यूनियन

अफ्रीकन यूनियन सी सदस्यता में 55 देश शामिल है। वहीं यहाँ पर 2050 जनसंख्या बढ़ने का अनुमान लगाया जा रह है। इसको लेकर ही विशाल समूल को जी 20 में शामिल होने को लेकर लम्बे समय से चर्चा चल रही थी। वहीं अफ्रीकन यूनियन को लगातार प्राथमिकता मिल रही है । चीन, अफ्रीका के साथ व्यापारी साझेदारी में जुड़ा हुआ है। पूरी दुनिया में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या में बढ़ोतरी होना शुरु हो गई है। जिसमें अफ्रीकी देश अहम भूमिका निभा रहा है।

दुनिया में इलेक्ट्रिक वाहनों पर निर्भरता लगातार बढ़ रही है तो अफ्रीकी देश बेहद अहम हो जाते हैं। वहीं जी 20 का गठन वैश्विक अर्थव्यवस्था को स्तिर रहने के लिए हुआ था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- https://raftaar.in/

Related Stories

No stories found.