बाहुबली धनंजय सिंह के जेल जाने के बाद बदला जौनपुर का समीकरण, पत्नी को सपा से लड़ा सकते हैं चुनाव, BJP से टक्कर

Jaunpur News: जौनपुर में लोकसभा चुनाव को लेकर घमासान चल रहा है। जहां रंगदारी मामले में पूर्व सांसद धनंजय सिंह को 7 साल की जेल हो गई है।
Kripa Shankar Singh, AkhileshYadav and Dhananjay Singh
Kripa Shankar Singh, AkhileshYadav and Dhananjay Singhraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। जौनपुर में लोकसभा चुनाव को लेकर घमासान चल रहा है। जहां रंगदारी मामले में पूर्व सांसद धनंजय सिंह को 7 साल की जेल हो गई है। धनंजय सिंह ने आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर जेल से ही बड़ी रणनीति बनाई है। धनंजय सिंह की इस रणनीति के अंतगर्त उनकी पत्नी आगामी लोकसभा चुनाव 2024 में जौनपुर से चुनाव लड़ सकती है। वहीं भाजपा ने भी जौनपुर से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए कृपा शंकर सिंह को उम्मीदवार बनाया है। जौनपुर का यह चुनाव बहुत ही घमासान होने वाला है।

अब वह लोकसभा चुनाव 2024 नहीं लड़ पाएंगे

पूर्व सांसद धनंजय सिंह और उनके सहयोगी संतोष विक्रम सिंह को जौनपुर में नमामि गंगे के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के अपहरण और रंगदारी मामले में 7 साल की सजा हुई। धनंजय सिंह के इस गलत कार्य का फल उन्हें जेल के साथ साथ लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भी मिला है। अब वह लोकसभा चुनाव 2024 नहीं लड़ पाएंगे। लेकिन जेल में रहकर भी वह जौनपुर की सत्ता अपनी पत्नी श्रीकला रेड्डी या फिर अपने किसी नजदीकी नेता को सौपना चाह रहे हैं। इसके लिए वह दोनों में से किसी एक को चुनाव मैदान में उतारने का दांव चल सकते हैं।

उनके इस नारे के बाद जौनपुर की सियासत में कुछ बड़ा होने की संभावना है

धनंजय सिंह के जेल जाने के कारण जौनपुर की राजनीति में घमासान होने जा रहा है। जौनपुर धनंजय सिंह का गढ़ हुआ करता था। जिसके कारण वह विधायक और सांसद बनते रहे है। उनकी जौनपुर में अच्छी पकड़ रही है। लेकिन अब उन्हें जेल हो चुकी है, जिससे जौनपुर का राजनीतिक समीकरण बिगड़ सकता है। भाजपा ने धनंजय सिंह के गढ पर सेंध लगाने के लिए कृपा शंकर सिंह को प्रत्याशी बनाया है। जो मुंबई की सियासत करते रहे हैं। लेकिन अब भाजपा ने उन्हें अपने गृह जनपद से लड़ने का मौका दिया है। भाजपा के उम्मीदवार की घोषणा होते ही धनंजय सिंह ने लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा ऐलान करने की बात कही है। उन्होंने इसके लिए नारा जारी किया ‘जीतेगा जौनपुर जीतेंगे हम’ उनके इस नारे के बाद जौनपुर की सियासत में कुछ बड़ा होने की संभावना है।

समर्थको की सहानुभूति को आगामी लोकसभा चुनाव में भुनाना चाहती है

पूर्व सांसद धनंजय सिंह का दोष साबित होने के बाद जब उनकी पत्नी श्रीकला रेड्डी जेल पहुंची तो उनका व्यवहार किसी सामान्य गृहणी की तरह नहीं था बल्कि एक सियासी नेता की तरह उनका हाव भाव लग रहा था। वह जौनपुर की जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। श्रीकला रेड्डी दक्षिण भारत के एक बड़े राजनैतिक और व्यापारिक परिवार से संबंध रखती है। उनके पिता का नाम जितेंद्र रेड्डी है जो तेलंगाना के विधायक रह चुके हैं। जेल में अपने पति धनंजय सिंह से मुलाकात के बाद श्रीकला रेड्डी ने अपने समर्थको से धैर्य और सयंम बनाये रखने की अपील की है और उन्होंने समर्थको से कहा कि आपके नेता को आपके सहानुभूति की जरुरत है। जिसका राजनीतिक नजरिया भी देखा जा रहा है। इसका मतलब धनंजय की पत्नी समर्थको की सहानुभूति को आगामी लोकसभा चुनाव में भुनाना चाहती है।

वहीं सपा ने भी अभी तक जौनपुर से अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है

वहीं धनंजय सिंह के जेल जाने के बाद सोशल मीडिया में उनका समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव के साथ एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। जो कि एक शादी के कार्यक्रम का है। लेकिन लोग इसे धनंजय के नजदीकी का समाजवादी पार्टी के साथ आगामी चुनाव लड़ने को लेकर देख रहे हैं। भाजपा का जौनपुर से उम्मीदवार घोषित होने के बाद धनंजय ने बड़ा ऐलान करने की बात कही है। वैसे भी धनंजय सिंह के पास उनको अपने नजदीकी को लोकसभा चुनाव लड़ाने के लिए निर्दलीय या सपा का ही विकल्प है। वहीं सपा ने भी अभी तक जौनपुर से अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.