MP New CM Mohan Yadav: कौन है मध्य प्रदेश के नए सीएम मोहन यादव? यहां जानें उनका पूरा राजनीतिक सफर

Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के चेहरे के लिए बीजेपी ने सस्पेंस खत्म कर दिया है और अपने निर्णय से मध्य प्रदेश के साथ साथ पूरे देश को चकित कर दिया है। मोहन यादव होंगे नए सीएम।
CM Mohan Yadav
CM Mohan Yadavraftaar.in

मध्य प्रदेश, रफ्तार डेस्क। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री के चेहरे के लिए बीजेपी ने सस्पेंस खत्म कर दिया है और अपने निर्णय से मध्य प्रदेश के साथ साथ पूरे देश को चकित कर दिया है। पूरी मीडिया अपना अपना आकड़ा मुख्यमंत्री के चेहरे के लिए प्रस्तुत कर रहे रहे थे। लेकिन जैसे ही बीजेपी ने मध्य प्रदेश में अपने नए मुख्यमंत्री का ऐलान किया तो सब बीजेपी के निर्णय से हैरान हो गए। भाजपा का यह बहुत ही सोच समझ कर लिया गया निर्णय है, जो उसे आने वाले लोकसभा चुनाव 2024 में जरूर सीटों का फायदा दिलाएगा। जैसे ही बीजेपी ने मध्य प्रदेश में अपने नए मुख्यमंत्री मोहन यादव का ऐलान किया है, पूरे इंटरनेट जगत में उनका नाम सर्च किया जा रहा है। वर्तमान(2023) में मोहन यादव उज्जैन दक्षिण से विधायक बने है और बीजेपी ने उन्हें मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री चुना है। हर कोई मोहन यादव के बारे में जानना चाहते है। बहुत ही जल्द मोहन यादव के शपथ ग्रहण की तारीख का ऐलान हो जायेगा। आइये मोहन के पूरे राजनीतिक सफर पर एक नजर डालें।

प्रोफाइल पर एक नजर

नाम :- डॉ मोहन यादव

जन्म :- 25 मार्च,1965

जन्म स्थान :- उज्‍जैन, मध्य प्रदेश

शिक्षा :- बी.एस.सी., एल-एल.बी., एम.ए.(राज.विज्ञान), एम.बी.ए., पी.एच.डी.

राजनीतिक यात्रा की शुरुआत :- उन्होंने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत वर्ष 1982 में माधव विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ के सह-सचिव रूप में की थी और तब से आज तक समाज सेवा करते आ रहे है। उन्हें राजनीति का अच्छा खासा अनुभव हो गया है। जिसे देखते हुए बीजेपी ने उनपर अपना भरोसा जताया है और उन्हें प्रदेश के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी सौपी है।

संघर्षपूर्ण रहा राजनीतिक सफर

डॉ मोहन रावत को मंत्री बनने के लिए पूरे 41 वर्ष का इंतजार करना पड़ा था, जो की काफी संघर्षपूर्ण रहा है। अब प्रदेश के मुख्यमंत्री बनते ही उनके संघर्ष का फल उन्हें मिल चूका है। कई बार वह अपने बयानों को लेकर भी मध्य प्रदेश की राजनीति में चर्चा में रहे है।

जन्म, शिक्षा और पारिवारिक जीवन

मोहन यादव का जन्म 25 मार्च,1965 को उज्‍जैन, मध्य प्रदेश में हुआ था। उनके पिता का नाम श्री पूनमचंद यादव और माता का नाम माता लीलाबाई यादव है। उन्होंने बी.एस.सी., एल-एल.बी., एम.ए.(राज.विज्ञान), एम.बी.ए. और पी.एच.डी. की शिक्षा मध्य प्रदेश से पूरी की। उनकी पत्नी का नाम श्रीमती सीमा यादव है, जिनसे उन्हें दो बेटे और एक बेटी है।

उनकी राजनीतिक यात्रा

वह वर्ष 1982 में माधव विज्ञान महाविद्यालय छात्रसंघ के सह-सचिव एवं 1984 में अध्‍यक्ष रहे। उन्होंने सन् 1984 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद उज्‍जैन के नगर मंत्री एवं 1986 में विभाग प्रमुख का पदभार संभाला था। वह सन् 1988 मेंअखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मध्‍यप्रदेश के प्रदेश सहमंत्री एवं राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्‍य और 1989-90 में परिषद की प्रदेश इकाई के प्रदेश मंत्री तथा सन्1991-92 में परिषद के राष्‍ट्रीय मंत्री रहे। सन्1993-95 में राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ, उज्‍जैन नगर के सह खण्‍ड कार्यवाह, सायं भाग नगर कार्यवाह एवं 1996 में खण्‍ड कार्यवाह और नगर कार्यवाह रहे। सन्1997 में भा.ज.यु.मो. की प्रदेश कार्य समिति के सदस्‍य रहे। सन्1998 में पश्चिम रेलवेबोर्ड की सलाहकार समिति के सदस्‍य रहे। सन्1999 में भा.ज.यु.मो. के उज्‍जैन संभाग प्रभारी रहे। सन् 2000-2003 में विक्रम विश्‍वविद्यालय उज्‍जैन की कार्यपरिषद के सदस्‍य रहे। सन्2000-2003 में भा.ज.पा. के नगर जिला महामंत्री एवं सन् 2004 में भा.ज.पा. की प्रदेश कार्यसमिति के सदस्‍य रहे। सन् 2004 में सिंहस्‍थ, मध्‍यप्रदेश की केन्‍द्रीय समिति के सदस्‍य रहे। सन् 2004-2010 में उज्‍जैन विकास प्राधिकरण के अध्‍यक्ष (राज्‍य मंत्री दर्जा) रहे। सन् 2008 से भारत स्‍काउट एण्‍ड गाइड के जिलाध्‍यक्ष रहे। सन् 2011-2013 में मध्‍यप्रदेश राज्‍य पर्यटन विकास निगम, भोपाल के अध्‍यक्ष (केबिनेट मंत्री दर्जा) रहे। भा.ज.पा. की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्‍य रहे। सन् 2013-2016 में भा.ज.पा. के अखिल भारतीय सांस्‍कृतिक प्रकोष्‍ठ के सह-संयोजक रहे। उज्‍जैन के समग्र विकास हेतु अप्रवासी भारतीय संगठन शिकागो (अमेरिका) द्वारा महात्‍मा गांधी पुरस्‍कार और इस्‍कॉन इंटरनेशनल फाउंडेशन डे द्वारा सम्‍मानित हुए। मध्‍यप्रदेश में पर्यटन के निरंतर विकास हेतु सन् 2011-2012 एवं 2012-2013 में राष्‍ट्रपति द्वारा पुरस्‍कृत हुए। सन् 2013 में चौदहवीं विधान सभा के सदस्‍य निर्वाचित हुए और विधायक बने। सन् 2018 में दूसरी बार विधान सभा सदस्‍य निर्वाचित और विधायक बने। दिनांक 2 जुलाई, 2020 को मंत्री पद की शपथ ली। वर्तमान(2023) में मोहन यादव उज्जैन दक्षिण से विधायक बने है और बीजेपी ने उन्हें मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री चुना है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.