प्रोफेसर करता था यौन शोषण! हरियाणा के चौधरी देवीलाल विवि की 500 छात्राओं ने CM खट्टर और PM मोदी को लिखी चिट्ठी

Haryana News: सिरसा में चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय की लगभग 500 छात्राओं ने बहुत ही गंभीर मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को पत्र लिखकर सामने रखा है।
Chief Minister Manohar Lal Khattar
Chief Minister Manohar Lal Khattarraftaar.in

सिरसा, रफ्तार डेस्क। हरियाणा के सिरसा में चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय की लगभग 500 छात्राओं ने बहुत ही गंभीर मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को पत्र लिखकर सामने रखा है। यह प्रोफेसर का बहुत ही घिनौना कृत्य है। सभी छात्राओं ने प्रोफेसर पर यौन शौषण का आरोप लगाया गया है।

आरोपी प्रोफेसर के निलंबन और मामले की जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज से कराने की मांग

चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय की छात्राओं ने आरोपी प्रोफेसर के निलंबन और मामले की जांच हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराने की मांग की है। वहीं पत्र की प्रतियां कुलपति अजमेर सिंह मलिक, राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, राज्य के गृह मंत्री अनिल विज और राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा सहित अन्य को भी भेजी गई हैं। इस गंभीर मामले के संबंध में अभी तक किसी की कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है।

यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार राजेश कुमार बंसल ने गुमनाम पत्र मिलने की पुष्टि कर दी है

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिकायत पत्र में छात्राओं ने प्रोफेसर पर गंदी और अश्लील हरकते करने का आरोप लगाया है। उन पर छात्राओं को अपने ऑफिस में बुलाने, बाथरूम में ले जाने, प्राइवेट प्राइवेट पार्ट्स को छूने और गंदी हरकते करने के आरोप लगे हैं। छात्राओं के विरोध करने पर प्रोफेसर बुरे अंजाम भुगतने की धमकी देता था। छात्राओं ने बहुत परेशान होकर प्रोफेसर के खिलाफ यह शिकायत की है, उसका यह घिनौना कार्य कई महीनो से चल रहा था। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार राजेश कुमार बंसल ने गुमनाम पत्र मिलने की पुष्टि कर दी है। इस तरह के गंभीर मांमले में तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए।

कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने एक्स पर लिखा

कांग्रेस नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने एक्स पर लिखा कि ''सिरसा के चौधरी देवीलाल विश्वविद्यालय की 500 छात्राओं द्वारा छेड़छाड़ और शोषण के गंभीर आरोपों की खबर चिंताजनक है। दु:खद बात ये भी है कि छात्राओं को न्याय के लिए राज्यपाल से लेकर प्रधानमंत्री तक को चिट्ठी लिखनी पड़ रही है। ऐसा लगता है कि प्रदेश की BJP-JJP सरकार द्वारा महिला शोषण के आरोपी मंत्री संदीप सिंह को बचाने जैसे मामलों का पुराना रिकार्ड देखते हुए ही छात्राओं का कोई भरोसा इस सरकार पर नहीं बचा। सरकार से मेरी अपील है कि छात्राओं के आरोपों की उच्चस्तरीय निष्पक्ष जांच कराकर उन्हें न्याय दिलाया जाए।''

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.