Lok Sabha Poll: TMC नेताओं को हिरासत में लेने पर डेरेक ओ ब्रायन का BJP पर हमला, कहा- "ये 100% तानाशाह है"

New Delhi: TMC नेताओं ने चुनाव आयोग के बाहर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। TMC का आरोप है कि BJP जांच ऐजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।
Derek O' Brian
Derek O' Brian Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। TMC सांसदों ने 8 अप्रैल को नई दिल्ली में चुनाव आयोग के मुख्यालय के बाहर केंद्र सरकार के खिलाफ केंद्रीय जांच ऐजेंसियों के दुरुपयोग करने पर विरोध प्रदर्शन किया। आज TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने मोदी सरकार पर तंज कसा और कहा- "देश में 100% तानाशाही है।"

क्या है TMC की मांग?

TMC ने मांग की है कि ED, CBI, NIA और Income Tax Department के डायरेक्टरों को बदलकर नए डायरेक्टरों को नियुक्त किया जाए। TMC सांसद अभिषेक बनर्जी ने माडियाकर्मियों से बातचीत करने के दौरान कहा कि "जांच ऐजेंसियों के खिलाफ सबूत होने के बाद भी चुनाव आयोग इस संस्थानों के डायरेक्टरों पर ऐक्शन क्यों नहीं ले रही? आखिर क्यों इन डायरेक्टरों को बदला नहीं जा रहा?"

हिरासत से छुटे TMC नेता

8 अप्रैल को नई दिल्ली में चुनाव आयोग के मुख्यालय के बाहर केंद्र सरकार के खिलाफ केंद्रीय जांच ऐजेंसियों के दुरुपयोग करने पर विरोध प्रदर्शन करने के बाद प्रदर्शनकारियों को मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन में हिरासत में लिया गया। कुछ समय बाद सभी TMC नेताओं और समर्थकों को हिरासत से छोड़ दिया गया।

हिरासत में TMC नेता

इस दौरान TMC ने दिल्ली पुलिस पर TMC नेताओं को हिरासत में लेने का आरोप लगाया और केंद्र सरकार पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाया। TMC ने इस मामले की "X" पर निंदा की और कहा- "दिल्ली में हमारे प्रतिनिधियों के साथ जो हो रहा है वह अपहरण के समान है। उन्हें पुलिस वैन में घसीटा गया और अज्ञात स्थानों पर ले जाया गया, उनके अधिकारों को बेरहमी से कुचल दिया गया।" @नरेंद्र मोदी , राष्ट्र आपके अत्याचार के शासनकाल का गवाह है!

कौन बैठे धरने पर?

नई दिल्ली में TMC के 10 सदस्य मिलकर चुनाव आयोग के मुख्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन पर बैठे। इसमें TMC के दिग्गज नेता और सांसद डेरेक ओ ब्रायन, डोला सेन, साकेत गोखले और सागरिका घोष, मोहम्मद नदीमुल हक, विधायक विवेक गुप्ता, पूर्व सांसद अर्पिता घोष, शांतनु सेन, अबीर रंजन विश्वास और पार्टी की छात्र शाखा पश्चिम बंगाल के उपाध्यक्ष सुदीप राहा शामिल हुए।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.