Stock Market Scam: फिर हेरा फेरी के तर्ज पर पैसा डबल करने के नाम का लालच पड़ा महंगा, ठग लिए लाखों रुपये

New Delhi: साइबर ठगों ने लोगों को ठगने के लिए अब स्टॉक मार्केट के नाम पर लाखों की ठगी करने का नया तरीका निकाला है। ऐसे ठगों से सावधानी बरतना न भूलें।
Cyber Crime 
Stock Market Scam
Cyber Crime Stock Market ScamRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में साइबर क्राइम की घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं। एक के बाद एक चौंकाने वाले साइबर क्राइम से जुड़े मामलों पर साइबर पुलिस खुद भी हैरान है। इस साइबर क्राइम लिस्ट में अब स्टॉक मार्केट के जरिए भी लोगों को ठगना शुरु कर दिया है। स्टॉक मार्केट के नाम पर साइबर ठगों ने मासूम लोगों से अब तक लाखों की चोरी करके फरार हो गए हैं।

स्टॉक मार्केट के नाम पर ठगी

ऐसा ही एक मामला विशाखापट्टनम से आया है यहां एक व्यक्ति से साइबर ठगों ने हाई रिर्टन के नाम पर पहले डबल पैसों का झांसा दिया। स्टॉक मार्केट पहले से ही रिस्क का काम है, ऐसे में जिन लोगों को मार्केट के बारे में जानकारी नहीं होती। ऐसे लोगों को साइबर ठग अपना शिकार बनाते हैं। साइबर ठगों ने उस व्यक्ति को स्टॉक मार्केट का WhatsApp और Telegram पर ग्रुप जॉइन करने के लिए कहा। उसके बाद ऑनलाइन स्टॉक मार्केट सीखने की क्लास लेने के लिए कहा। उसके बाद साइबर ठगों ने आखिरी दांव चलकर व्यक्ति की आंखों के सामने से 64 लाख उड़ा ले गए।

डॉक्टर से 24 लाख की ठगी

हाल ही में राजधानी दिल्ली में एक डॉक्टर के साथ हुआ। डॉक्टर को ट्रैडिंग में पहले से ही रुचि थी। एक दिन डॉक्टर के पास सोशल मीडिया पर एक स्टॉक मार्केट से जुड़ने एक वीडियो नजर आया। डॉक्टर ने उस वीडियो को देखा तो उसमें ट्रेडिंग करने पर हाई रिर्टन देने के नाम पर लोगों को वीडियो के माध्यम से स्टॉक मार्केट पर पैसे लगाने के लिए प्रभावित किया। बस यहीं से शुरु हो गया साइबर ठगी का असली खेल। डॉक्टर से स्टॉक ट्रेडिंग के बहाने 24 लाख रुपये का चूना लगा दिया।

SEBI ने जताई चिंता

साइबर क्राइम के बढ़ते मामलों पर SEBI ने चिंता जताई है। SEBI ने कहा कि पिछले कई महीनों से ट्रेडिंग के नाम पर लोगों को शिकार बनाकर सोशल मीडिया प्लटफॉर्म WhatsApp और Telegram पर लिंक भेज कर पैसों की ठगी हो रही है। ऐसे ठगों से बचें। केवल रजिस्टर्ड ट्रेडरों से ही खाता खुलवाएं। किसी भी लिंक, मैसेड या वीडियो को ऑपन करने से बचें।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.