Lal Bahadur Shastri: पूर्व PM और भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

New Delhi: आज देश के दूसरे पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि है। 1965 में जब भारत ने पाकिस्तान को युद्ध में करारी शिकस्त दी तब वही देश के प्रधानमंत्री थे।
Lal Bahadur Shastri
Lal Bahadur Shastri Raftaar.in

रफ्तार डेस्क, नई दिल्ली। आज देश के दूसरे पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि है। 1965 में जब भारत ने पाकिस्तान को युद्ध में करारी शिकस्त दी तब वही देश के प्रधानमंत्री थे। जय किसान, जय जवान का नारा देने वाले शास्त्री जी ने 11 जनवरी, 1966 को ताशकंद में अंतिम सांस ली थी। शास्त्री जी एक कुशल नेतृत्व वाले गांधीवादी नेता थे और सादगी भरी जीवन व्यतीत करते थे। वे पंडित नेहरू के निधन के बाद सिर्फ करीब डेढ़ साल तक ही देश के प्रधानमंत्री रहे लेकिन इस छोटे कार्यकाल में उन्होंने अपनी काबिलियत को पूरी दुनिया के सामने साबित किया था।

1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध में इन्होंने देश का बढ़ाया गौरव

1965 में जब भारत ने पाकिस्तान को युद्ध में करारी शिकस्त दी तब वही देश के प्रधानमंत्री थे। उजबेकिस्तान की राजधानी ताशकंद में उनकी अचानक मृत्य देश के लिए भारी क्षति थी। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में 2 अक्टूबर 1904 को हुआ था। उनकी माता का नाम राम दुलारी था और पिता का नाम मुंशी प्रसाद श्रीवास्तव था। शास्त्री जी की पत्नी का नाम ललिता देवी था। काशी विद्या पीठ से उन्होंने स्नातक की पढ़ाई की थी।

यहां पढ़ें शास्त्री जी के अनमोल विचार

- यदि कोई एक व्यक्ति भी ऐसा रह गया जिसे किसी रूप में अछूत कहा जाए तो भारत को अपना सिर शर्म से झुकाना पड़ेगा।

- हर कार्य की अपनी एक गरिमा है और हर कार्य को अपनी पूरी क्षमता से करने में ही संतोष प्राप्त होता है।

- देश की तरक्की के लिए हमें आपस में लड़ने के बजाय गरीबी, बीमारी और अज्ञानता से लड़ना होगा।

- देश के प्रति निष्ठा सभी निष्ठालओं से पहले आती है और यह पूर्णनिष्ठाा है क्यों कि इसमें कोई प्रतीक्षा नहीं कर सकता कि बदले में उसे क्यों मिलता है।

लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर दी श्रृद्धांजलि

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एक्स पर पोस्ट कर कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री ‘जय जवान जय किसान’ के प्रणेता भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री जी की पुण्यतिथि पर उन्हें विनम्र अभिवादन।

तृणमूल कांग्रेस ने भी दी श्रृद्धांजलि

लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर तृणमूल कांग्रेस ने एक्स पर पोस्ट डाल कर उन्हें श्रृद्धांजलि दी, और कहा कि लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर उनको याद करते हुए देश के लिए उनके योगदान और उनकी देशभक्ति को सलाम। जय जवान, जय किसान।

कांग्रेस ने भी दी श्रृद्धांजलि

आज कांग्रेस ने भी अपने एक्स हेंडल पर भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि पर उनको श्रृद्धांजलि देते हुए कहा कि "हमें शांति के लिए भी उतनी ही तीव्रता से लड़ना चाहिए, जितना हम युद्ध के खिलाफ लड़ते हैं।" निष्ठा, क्षमता एवं सादगी की मिसाल, भारत के पू्र्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी की पुण्यतिथि पर उन्हें शत-शत नमन।

लाल बहादूर शास्त्री ने देश को दिखाई नई दिशा

लाल बहादूर शास्त्री के नेतृत्व में देश ने नई उच्चाईयों को छूआं। 1965 में पाकिस्तान से युद्ध कर उसको धूल चटाया। साल 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने अमूल की सफलता को अपनी आंखों से देखने के लिए गुजरात के आनंद का दौरा किया। इसके बाद सारी जानकारी ली। पीजी कुरियन से देश भर में आंदोलन को फैलाने में मदद करने के लिए आनंद में एक राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड बनाने का आग्रह भी किया, उन्होंने कुरियन को हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया। देश में बड़े पैमाने पर दूध उत्पादन के लिए 1970 में ऑपरेशन फ्लड शुरू किया गया।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.