Asaduddin Owaisi: लोकसभा में सरकार पर औवेसी का हमला, बोले- कुर्सी है ये तुम्हारा जनाजा तो नहीं, कुछ कर नहीं...

No Confidence Motion: AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में कहा कि देश में नफरत का माहौल है। उन्होंने सदन में नूंह हिंसा समेत कई मुद्दो पर सरकार से सवाल किए।
Asaduddin Owaisi
Asaduddin OwaisiPhoto- Sansad TV

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। संसद में सरकार पर विपक्ष की ओर से लए गए अविश्वास प्रस्ताव पर आज गुरुवार (10 अगस्त) को चर्चा के दौरान AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में कहा कि देश में नफरत का माहौल है। उन्होंने सदन में अविश्वास प्रस्ताव पर बोलते हुए मुस्लिमों की सुरक्षा, समान नागरिक संहिता और नूंह हिंसा समेत कई मुद्दो पर सरकार से सवाल किए।

लोगों को कपड़े और दाढी देखकर मारा जा रहा

असादुदीन ओवैसी ने लोकसभा में कहा हमारे देश में लोगों को कपड़े और दाढी देखकर मारा जा रहा है। उन्होंने ट्रेन में आरपीएफ जवान के गोली मारने वाली धटना का जिक्र किया। इसके साथ उन्होंने आरोप लगाया कि नूंह में हिंसा के बाद मुसलमानों के घरों को गिरा दिया गया। मुसलमानों के खिलाफ देश में बुरा माहौल बना दिया है। सरकार ने हिजाब को मुद्दा बनाकर मुस्लिम बच्चियों को पढ़ाई से दूर कर दिया। ओवैसी ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने 1991 के वर्शिप एक्ट के साथ छेड़छाड़ कर रही है, जो न की जाए तो सही है।

बिलकिस बानो सरकार क्यो चुप है?

उन्होंने कहा कि आखिर बिलकिस बानो को न्याय मिलना चाहिए या नहीं, वह देश की बेटी है या नहीं। उसके मुजरिमों को इस सरकार ने रिहा कर दिया। चीन पर सरकार को घेरते हुए उन्होंने पूछा कि चीन हमारे देश में घुसकर बैठा हुआ है, इस पर सरकार के लोग चुप बैठे हैं। इसके बाद ओवैसी ने मणिपुर हिंसा पर सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि मणिपुर में हथियारों को लूटा जा रहा है आप चुप है। कुलभूषण जाधव को वापस क्यों नहीं लाते इस पर भी आप चुप है। लेकिन मोदी को पसमांदा मुस्लिमों से बहुत प्यार है, और उनके कैबिनेट में एक भी पसमांदा मुस्लिम नहीं है।

कुर्सी है ये तुम्हारा जनाजा तो नहीं, कुछ कर नहीं सकते तो...

ओवैसी ने आगे कहा कि हमारे संविधान में जमीर की आजादी का जिक्र किया गया है। मैं प्रधानमंत्री से जानना चाहता हूं कि कहां गया इस हुकूमत का जमीर, जब नूंह में 750 इमारतों को इसलिए जमीदोज कर दिया गया क्योंकि वो मुसलमान थे। जिसके लिए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने कहा कि ये एथनिक लिंचिंग है। उन्होने कहा कि कल गृह मंत्री ने बड़ा लंबा जवाब दिया, लेकिन कहां गया आपका जमीर जब महिलाओं के साथ बदसलूकी की जाती है और आप वहां के मुख्यमंत्री को नहीं हटाना चाहते क्योंकि वो सहयोग कर रहे हैं। इसके बाद उन्होंने हरियाणा और मणिपुर के मुख्यमंत्रियों के लिए कहा- किसी शायर ने कहा था कि "कुर्सी है ये तुम्हारा जनाजा तो नहीं, कुछ कर नहीं सकते तो उतर क्यों नहीं जाते।" जहां पर पचास हजार लोग बेघर हो गए। छह लाख हथियारों को लूटा जा रहा है। आखिर कहां गया आपका जमीर। ओवैसी ने आगे कहा यहां एक दुकानदार है और एक चौकीदार है। कब तक ये लोग हम मुसलमानों पर जुल्म करेंगे। क्योकि जुल्म के खिलाफ आवाज नहीं उठाएंगे तो आपकी दुकानदारी नहीं चलेगी ये भी सभी को पता है।

Related Stories

No stories found.