Zimbabwe का T-20 में बड़ा कारनामा, World Cup विजेता को हराया, आखिरी ओवर में 24 रन ठोके

Sri Lanka vs Zimbabwe : जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम ने टी-20 के इतिहास में पहली बार पूर्व विश्व विजेता टीम श्रीलंका को हराया है। कोलंबो में मंगलवार को दोनों टीमों में दूसरा मुकाबला खेला गया था।
बल्लेबाजी करते जिम्बाब्वे टीम के खिलाड़ी।
बल्लेबाजी करते जिम्बाब्वे टीम के खिलाड़ी।@ICC एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम (zimbabwe cricket team) ने टी-20 के इतिहास में पहली बार पूर्व विश्व विजेता टीम श्रीलंका को हराया है। कोलंबो स्थित आर प्रेमदासा स्टेडियम में मंगलवार को दोनों टीमों में तीन मैचों की टी-20 सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला गया था। मेजबान श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी की और 6 विकेट पर 173 रन बनाए। जिम्बाब्वे ने लक्ष्य को 19.5 ओवरों में 6 विकेट पर हासिल कर लिया। जिम्बाब्वे टीम से क्रेग इरविन ने 70 रनों की शानदार मैच विनिंग पारी खेली।

असलंका और मैथ्यूज ने श्रीलंका की थोड़ी लाज बचाई

जिम्बाब्वे ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। श्रीलंका टीम ने 27 के स्कोर पर 4 विकेट गंवा दिए। इसके बाद चरिथ असलंका और एंजेलो मैथ्यूज ने पारी संभाली और पांचवें विकेट के लिए 79 गेंदों पर 118 रनों की शानदार साझेदारी की। इस साझेदारी ने टीम के स्कोर को सम्मानजनक बनाया। चरिथ असलंका ने सिर्फ 39 गेंदों पर 69 रनों की धमाकेदार पारी खेली। इसमें 5 चौके और तीन छक्के थे। एंजेलो मैथ्यूज ने 51 गेंदों पर नाबाद 66 रन बनाए और टीम का स्कोर 20 ओवरों में 173 रन तक पहुंचाया। जिम्बाब्वे के लिए मुजरबानी और जोंगवे ने 2-2 विकेट झटके। नगारवा और मसाकाद्जा ने 1-1 विकेट लिया।

क्रेग इरविन की पारी ने श्रीलंका को पछाड़ा

जिम्बाब्वे टीम की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही थी। टीम ने 22 के स्कोर पर पहला विकेट गंवा दिया था। इसके बाद क्रेग इरविन ने एक छोर से पारी संभाली और स्कोर को गति देने का काम किया। इरविन और बेन्नट के बीच 53 गेंदों पर 74 रनों की साझेदारी हुई। 96 के स्कोर पर बेन्नट आउट हो गए। श्रीलंका ने 131 के स्कोर तक जिम्बाब्वे की आधी टीम को पवेलियन भेज दिया था, लेकिन 7वें विकेट के लिए ल्यूक जोंगवे और क्लाइव मदांदे के बीच 14 गेंदों पर 35 रनों की साझेदारी ने टीम को 1 गेंद पहले जीत दिला दी। अब सीरीज का निर्णायक मैच 18 जनवरी को खेला जाएगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.