भारत से पंगा लेना मालदीव को पड़ा भारी, तीन दिन में ही 30% पर्यटकों ने मुंह मोड़ा

पीएम नरेंद्र मोदी पर अपमानजनक टिप्पणी का विवाद थमा नहीं है। भारतीय पर्यटकों ने मालदीव को घुटनों पर लाकर खड़ा कर दिया है। मालदीव जाने वाले पर्यटकों में तीन दिन में 30% तक की गिरावट आ चुकी है।
मालदीव बायकॉट, Maldives and India reletionship
मालदीव बायकॉट, Maldives and India reletionship Social media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। पिछले दिनों मालदीव सरकार में रहे तीन मंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लक्षद्वीप दौरे पर जो अपमानजनक टिप्पणी की थी, उसका सीधा असर मालदीव के टूरिज्म पर पड़ रहा है। विवाद शुरू होने के बाद मालदीव जाने वाले भारतीयों की संख्या में 30 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह दावा पर्यटन से जुड़ी सेवाएं देने वाली कंपनियों ने किया है।

ब्लू स्टार एयर ट्रैवल सर्विसेज के निदेशक माधव ओझा ने भारत से मालदीव के लिए सीधी उड़ानों में 20 से 30% कैंसिलेशन की जानकारी दी है। देशभर से रोजाना 7 से 8 फ्लाइट सीधे मालदीव जाती हैं। जिनमें से मुंबई से अकेले तीन फ्लाइट हैं।

पीएम मोदी के सपोर्ट में सामने आए कई सेलेब्स

मालदीव के मंत्रियों की टिप्पणी पर भारत के कई सेलेब्स ने खासी नाराजगी जताई थी। इनमें सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, अमिताभ बच्चन और सलमान खान शामिल हैं। इसके बाद बुकिंग में 30% की कमी आई है । माधव के अनुसार लोग अब नई जगह की तलाश कर रहे हैं, इसका फायदा लक्षदीप और अंडमान निकोबार को मिलेगा।

मालदीव से कई गुना सुंदर है अंडमान निकोबार

भारत में कई ऐसे पर्यटक स्थल है। जो मालदीव के आगे फीके पड़ जाते हैं। अंडमान एंड निकोबार द्विपो के टूर ऑपरेटर एसोसिएशन के अध्यक्ष और भाजपा नेता मोहन विनोद ने दावा किया है कि मालदीव के मुकाबले अंडमान दस गुना सुंदर और साफ है।

कैसे शुरू हुआ था विवाद?

पीएम मोदी ने अपने लक्षद्वीप दौरे की फोटो और वीडियोज़ शेयर किए थे। उन्होंने लक्षद्वीप को एक टूरिस्ट डेस्टिनेशन के तौर पर चुनने की अपील की थी। इसके बाद मालदीव के कुछ मंत्रियों ने भारत के टूरिस्म को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की थी। मामला बढ़ा तो मालदीव की सरकार ने टिप्पणी करने वाले तीन मंत्रियों को सस्पेंड कर दिया था। विवाद शुरू होने के बाद मालदीव बनाम लक्षद्वीप की बहस भी शुरू हो गई थी।

Related Stories

No stories found.