nagaland-woman-hanged-her-life
nagaland-woman-hanged-her-life

नगालैँड की महिला ने फंदा लगाकर दी जान

नगालैँड की महिला ने फंदा लगाकर दी जान पति से अलगाव के बाद सुसाइड की आशंका, होटल में ऑनलाइन बिलिंग पर करती थी काम जोधपुर, 23 मई (हि.स.)। शहर के सिंधी कॉलोनी स्थित एक किराए के मकान में रहने वाली नगालैंड की महिला की फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। वह तीन चार माह से अपने पति से अलग रह रही थी। उससे अलगाव की आशंका जताई जाती है। फंदे पर लटके होने की सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और बाद में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया गया। वह यहां पर एक रेस्टोरेंट में ऑनलाइन बिलिंग का कार्य करती थी। शास्त्रीनगर थानाधिकारी पंकजराज माथुर ने बताया कि मूलत: नगालैंड की रहने वाली 28 साल की लोविकाली पुत्री मितोह आसुमी यहां जलजोग चौराहा स्थित सिंधी कॉलोनी में किराए के मकान पर अकेली रहती थी। वह जलजोग पर ही दिल्ली तडक़ा रेस्टोरेंट में ऑनलाइन बिलिंग का कार्य करती थी। वह शादीसुदा थी और उसके तीन बच्चें है। बच्चें व पित नगालैंड में ही रहते है। तीन चार माह पहले पति से संभवत: अलगाव के बाद वह यहां पर अकेली रहने लगी थी। रविवार की सुबह सूचना मिली कि उसने अपने किराए के कमरें पर चुन्नी से फंदा लगाकर खुदकुशी की है। उसे परिचितों ने फोन लगाया और घर पर आकर बेल भी बजाई। मगर उसके द्वारा कोई जवाब नहीं मिलने पर दरवाजे का धकेला गया। तब दरवाजे की चिटकनी टूट गई और वह पंखे के हुक में झूलती दिखी। थानाधिकारी ने बताया कि बाद में पुलिस को सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची। इस पर शव को फंदे से उतरवा कर मथुरादास माथुर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया। उसके यहां एक चचेरी बहन रहती है उसे सूचना दी गई। लॉक डाउन के चलते परिवार के लोग उसे लेने नहीं आ सकते। इसके लिए मसीही समाज और नगालैंड के कुछ लोगों की उपस्थिति में शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव चचेरी बहन को सौंपा गया। स्थानीय मसीही समाज के लोगों द्वारा बाद में उसका अंतिम संस्कार करवाया गया। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश / ईश्वर

Related Stories

No stories found.