Lays Off: गूगल में कर्मचारियों की छंटनी, जनवरी में भी सैकड़ों स्टाफ को दिखाया था बाहर का रास्ता

Google Lays Off: गूगल द्वारा कॉस्ट कटिंग के लिए कर्मचारियों की संख्या में कटौती की जा रही है। इससे पहले कंपनी ने जनवरी में सैकड़ों कर्मचारियों को नौकरी से निकाला था।
गूगल ले-ऑफ।
गूगल ले-ऑफ। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। इन दिनों बड़ी-बड़ी आईटी कंपनियां संभावित मंदी से जूझ रही हैं। लागत में कमी के लिए कंपनियां कर्मचारियों की छंटनी कर रही हैं। गूगल ने फिर अपने कर्मचारियों को कंपनी से बाहर निकाला है। कंपनी के प्रवक्ता ने बुधवार को बताया कि कॉस्ट कटिंग के लिए कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। छंटनी पूरी कंपनी में नहीं की जा रही है, इसलिए इससे प्रभावित कर्मचारी अन्य किसी भूमिका के लिए आवेदन कर सकेंगे। वैसे, उन्होंने छंटनी से प्रभावित होने वाले कर्मचारियों की संख्या और इसमें शामिल टीमों के बारे में जानकारी नहीं दी।

यहां भेजे जाएंगे स्टाफ

छंटनी से प्रभावित कुछ कर्मचारियों को कंपनी भारत, शिकागो, अटलांटा, डबलिन समेत उन जगहों पर भेजेगी, जहां वह निवेश कर रही है। बता दें, इस साल टेक और मीडिया इंडस्ट्री में कई नौकरियों में कटौती के बाद गूगल में भी छंटनी हो रही है। इससे आशंका बढ़ी है कि छंटनी जारी रह सकती है।

इन विभागों में चली छंटनी की तलवार

रिपोर्ट के मुताबिक गूगल के रियल एस्टेट और वित्त विभागों की कई टीमों के कर्मचारी छंटनी के शिकार हुए हैं। इन टीमों में गूगल ट्रेजरी, बिजनेस सर्विसेज, रेवेन्यू कैश ऑपरेशन शामिल हैं। गूगल के वित्त प्रमुख रूथ पोराट ने कर्मचारियों को ईमेल भेजा है। इसमें बताया गया है कि पुनर्गठन में बंगलुरु, मैक्सिको सिटी, डबलिन में विकास का विस्तार शामिल है।

पहले किया था आगाह

गूगल ने इससे पहले जनवरी में भी कंपनी की इंजीनियरिंग, हार्डवेयर और सहायक टीमों समेत कई टीमों के सैकड़ों कर्मचारियों को हटाया था, क्योंकि कंपनी ने निवेश बढ़ाते हुए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की पेशकश की थी। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कथित तौर पर साल की शुरुआत में कर्मचारियों से नौकरियों में कटौती किए जाने को लेकर पहले ही आगाह किया था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.