Saphala Ekadashi Mantra : सफला एकादशी के दिन इन मंत्रों का करें जाप, भगवान विष्णु की होगी अपार कृपा

हिंदू धर्म में पूजा पाठ करने का एक अलग नियम बताया गया है। वहीं कुछ तिथि त्यौहार ऐसे होते हैं जिनके दिन पूजा पाठ का एक अलग महत्व हो जाता है।
Mantra of Saphala Ekadashi
Mantra of Saphala Ekadashiwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क 7 January 2024 : हम अक्सर घर में गुरुवार के दिन विष्णु भगवान की पूजा अर्चना करते हैं। कहते हैं कि विष्णु भगवान की पूजा करने से घर में सुख शांति बनी रहती है और धन की कमी कभी नहीं होती। वैसे तो हर भगवान के पूजा करने का अलग-अलग दिन होता है लेकिन कभी कोई ऐसी तिथि पड़ जाती है। जिसमें हम तिथि और त्योहार के अनुसार भगवानों की पूजा करते हैं। आपको बता दें सफला एकादशी का बहुत महत्व है, इस साल 7 जनवरी, 2024 को सफला एकादशी मनाई जाएगी। सफला एकादशी के श्रीहरि विष्णु को प्रसन्न करने के लिए कई मंत्रो के जाप भी किए जाते हैं।

सफला एकादशी का महत्व

हिंदू धर्म में सफला एकादशी का अधिक महत्व बताया गया है। इस दिन व्रत रखने से और पूजा-पाठ करने से व्यक्ति के सभी कार्य सिद्ध हो सकते हैं और सभी कार्यों में सफलता भी मिल सकती है। इस दिन अन्न का दान करना बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि सफला एकादशी के दिन व्रत रखने से साधन को जीवन में सभी पापों से निजात मिल सकता है। इस दिन पीले वस्त्र धारण करने का विशेष महत्व है। वहीं जैसे हम गुरुवार के दिन भगवान विष्णु के साथ केले के पौधे की भी पूजा करते हैं। वैसे ही सफला एकादशी के दिन केले के पौधे के पूजन का बड़ा महत्व है। इस दिन पानी में हल्दी डालकर केले के पौधें पर अर्पित करें और 7 बार परिक्रमा लगाएं। मान्यता है कि ऐसा करने से वैवाहिक जीवन की दिक्कतें दूर होती हैं।

सफला एकादशी के दिन इन मंत्रों का जाप करें

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय

ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीवासुदेवाय नमः

ॐ नमो नारायणाय

लक्ष्मी विनायक मंत्र का करें जाप

दन्ताभये चक्र दरो दधानं,

कराग्रगस्वर्णघटं त्रिनेत्रम्।

धृताब्जया लिंगितमब्धिपुत्रया

लक्ष्मी गणेशं कनकाभमीडे।।

धन-वैभव के लिए मंत्र जाप

ॐ भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि।

ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.