Sandeshkhali: PM मोदी ने ममता के गढ़ से भरी हुंकार, कहा- "TMC के राज में महिलाओं के साथ हुआ घोर पाप"

West Bengal News: PM नरेन्द्र मोदी ने आज बारासात में नारी शक्ति वंदन अभिनंदन कार्यक्रम में संदेशखाली में महिलाओं के साथ हुए अत्याचार और उनके संघर्षों के लिए ममता सरकार के खिलाफ निशाना साधा किया।
PM Modi 
CM Mamta Banerjee
Sandeshkhali
PM Modi CM Mamta Banerjee Sandeshkhali Raftaar.in

कोलकाता, हि.स.। पश्चिम बंगाल के बारासात में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ममता सरकार पर जमकर निशाना साधा। नारी शक्ति वंदन अभिनंदन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के राज में नारी शक्ति पर अत्याचार का घोर पाप हुआ है। इसकी वजह से पूरे देश का सिर शर्म से झुक गया है।

हाई कोर्ट से TMC को लगा झटका

भाजपा की ओर से बारासात में आयोजित नारी शक्ति वंदन अभिनंदन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार बंगाल की महिलाओं के गुनहगारों को बचाने के लिए पूरी शक्ति लगा रही है जबकि उसे उच्च न्यायालय से लेकर उच्चतम न्यायालय तक में झटका लगा है। उन्होंने कहा कि इस व्यवहार से बंगाल की महिलाएं, देश की महिलाएं आक्रोश में हैं। नारी शक्ति के आक्रोश का यह ज्वार संदेशखाली तक ही सीमित नहीं रहने वाला है, बल्कि यह पूरे बंगाल तक जाएगा।

TMC राज में नारी शक्ति पर अत्याचार का घोर पाप

मोदी ने कहा कि यहां की महिलाओं ने देश को दिशा दी है और मां शारदा, भगिनी निवेदिता, मातंगिनी हाजरा और कल्पना दत्ता जैसी अनगिनत शक्ति स्वरूपा यहां अवतरित हुई हैं लेकिन, इसी धरती पर तृणमूल के राज में नारी शक्ति पर अत्याचार का घोर पाप हुआ है। संदेशखाली में जो हुआ उससे किसी का भी सिर शर्म से झुक जाएगा, लेकिन यहां की सरकार को आपके दुख से कोई फर्क नहीं पड़ता।

ममता सरकार को अत्याचारी नेता पर भरोसा

मोदी ने आरोप लगाया कि राज्य की गरीब, दलित, वंचित और आदिवासी परिवार की बहन-बेटियों के साथ टीएमसी के नेता जगह-जगह अत्याचार कर रहे हैं लेकिन राज्य सरकार को अपने अत्याचारी नेता पर भरोसा है, बंगाल की बहन-बेटियों पर भरोसा नहीं है। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान करते हुए कहा कि लोगों को वोट के जरिए चोट देनी होगी।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.