Ram Mandir: वायु एवं ध्वनि प्रदूषण की रोकथाम पर UP सरकार का बड़ा फैसला, अयोध्या से चलेंगी 200 इलेक्ट्रिक बसें

Lucknow: अयोध्याधाम में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के दिन उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने यात्रियों की सुविधा के लिए 6 रूटों पर 200 इलेक्ट्रिक बसें निकालने की घोषणा की है।
Ram Mandir
Ram Mandir Raftaar.in

लखनऊ, हि.स.। उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने कहा कि आगामी 22 जनवरी को अयोध्याधाम में श्रीराम जन्मभूमि परिसर में निर्मित पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में व इसके बाद भी आने वाले श्रद्धालुओं, यात्रियों एवं पर्यटकों तथा स्थानीय निवासियों की सुविधा के लिए तथा उन्हें आरामदायक एवं सुलभ परिवहन सेवा उपलब्ध कराने के लिए नगर विकास विभाग द्वारा अयोध्याधाम के 6 रूटों पर 200 इलेक्ट्रिक बसों को संचालित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में मुख्यमंत्री ने अयोध्यावासियों के लिए 50 ई-बसों और 25 ई-ऑटो की सौगात दी थी। योगी सरकार के इस निर्णय से अयोध्या आने वाले यात्रियों और श्रद्धालुओं को काफी राहत मिलेगी।

यहां देखें रुट

नगर विकास मंत्री ने कहा कि 14 जनवरी को मुख्यमंत्री ने एयरपोर्ट से अयोध्या धाम के लिए भी ई-बस सेवा का शुभारम्भ किया था। आगामी 20 जनवरी तक नगर विकास विभाग द्वारा 200 इलेक्ट्रिक बसों को संचालित किया जाएगा। इसके अतिरिक्त 4 ई-बसें (7 मीटर) का एयरपोर्ट के यात्रियों की सुविधा के लिए महर्षि वाल्मीकि अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से श्रीराम जन्मभूमि तक वाया लता मंगेशकर चौक मार्ग पर संचालन कराया जायेगा। जिन 6 रूटों पर इन बसों का संचालन किया जाना है, उसमें 23 किलोमीटर लम्बे कटरा रेलवे स्टेशन से सहादतगंज (रामपथ) पर लाल कलर कोड की 40 बसें चलेंगी, सलारपुर से अयोध्याधाम बस स्टेशन तक 22 किमी लम्बे मार्ग पर पीले कलर कोड की 40 बसें, अयोध्याधाम बस स्टेशन से भरतकुंड तक 41 किमी लम्बे मार्ग पर नारंगी कलर कोड की 40 बसों से प्रयागराज एवं सुल्तानपुर व इससे जुड़े मार्गों से आने वाले यात्रियों को सुविधा मिलेगी। अयोध्याधाम बस स्टेशन से बारून बाजार तक 33 किमी लम्बे मार्ग पर बैगनी कलर कोड की 40 बसों से बांदा एवं झांसी व इससे सम्बद्ध मार्ग के यात्रियों को सुविधा मिलेगी। अयोध्याधाम बस स्टेशन से पूरा बाजार तक 33 किमी लम्बे मार्ग पर हरे कलर कोड की 40 बसें चलायी जायेंगी। इसके अतिरिक्त महर्षि वाल्मीकि अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से श्रीराम जन्मभूमि तक वाया लता मंगेशकर चौक से 17 किमी लम्बे मार्ग पर 4 इलेक्ट्रिक बसें चलायी जाएंगी।

इलेक्ट्रिक बसों की चलो ऐप के माध्यम से की जा सकेगी ट्रैकिंग
एके शर्मा ने कहा कि वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसें व ई-ऑटो श्रद्धालुओं, यात्रियों एवं दर्शनार्थियों के लिए काफी सुलभ, सुरक्षित एवं लोकप्रिय पब्लिक ट्रॉन्सपोर्ट के रूप में जानी जायेंगी। इससे लोगों को वायु एवं ध्वनि प्रदूषण से भी मुक्ति मिलेगी। यह परिवहन सेवा दिव्यांग मित्रों, वृद्धजनों एवं महिलाओं के काफी सुरक्षित है।

इन बसों में यात्रियों की सुरक्षा (विशेष रूप से महिलाओं) के लिए 5 सीसीटीवी एवं 10 पैनिक बटन की भी व्यवस्था की गई है तथा सेफ सिटी परियोजना के अन्तर्गत पुलिस हेल्पलाइन डायल यूपी-112 से भी जोड़ा गया है। इन बसों की रियल टाइम लोकेशन प्राप्त करने के लिए इन्हें व्हीकल ट्रैकिंग डिवाइस से भी सुसज्जित किया गया है। चलो ऐप के माध्यम से भी इन बसों की ट्रैकिंग की जा सकेगी।

यात्रियों की सुविधा के लिए अयोध्याधाम बस स्टेशन पर कन्ट्रोल रूम स्थापित
नगर विकास मंत्री ने बताया कि प्रदेश के अलग-अलग मार्गों से अयोध्याधाम आने वाले श्रद्धालुओं, यात्रियों एवं दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए 05 अलग-अलग कलर कोडिंग के साथ इन इलेक्ट्रिक बसों का संचालन कराया जा रहा है। यात्रियों की सुविधा के लिए अयोध्याधाम बस स्टेशन पर 24ग7 कन्ट्रोल रूम की स्थापना करायी गयी है। इसका मो.नं. 918853364763 भी संचालित है। यात्रियों, पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं की जानकारी के लिए प्रमुख स्टॉपेज, तीर्थ स्थलों, रेलवे व बस स्टेशनों पर इन इलेक्ट्रिक बसों का रूट मैप भी लगवाया जा रहा है। साथ ही अयोध्या पुलिस की एलईडी दिव्य अयोध्या ऐप पर भी इसको प्रदर्शित किया जायेगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.