मुख्यमंत्री योगी को बम से उड़ाने की मिली धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आई कॉल से हड़कंप; जांच में जुटी पुलिस

UP News: राजधानी लखनऊ के पुलिस कंट्रोल रूम में आए एक कॉल से हड़कंप मच गया है। यह कॉल के जरिये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी मिली है।
Yogi Adityanath
Yogi Adityanathraftaar.in

लखनऊ, (हि.स.)। राजधानी लखनऊ के पुलिस कंट्रोल रूम में आए एक कॉल से हड़कंप मच गया है। यह कॉल के जरिये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी मिली है। सुरक्षा मुख्यालय में तैनात मुख्य आरक्षी ने महानगर थाना में इसकी शिकायत दर्ज करायी है।

यह कॉल शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम के सीयूजी नंबर पर आया था

उल्लेखनीय है कि यह कॉल शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम के सीयूजी नंबर पर आया था। इसके बाद कंट्रोल रूम में तैनात हेड कांस्टेबल ने तुरंत धमकी वाले नंबर की शिकायत दर्ज कराई। अब पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

पुलिस ने आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है

थाना प्रभारी अखिलेश कुमार ने सोमवार को बताया कि सुरक्षा मुख्यालय में तैनात मुख्य आरक्षी उधम सिंह की ओर से शिकायत दर्ज कराई गई है। उसने बताया कि दो मार्च को उनके मोबाइल पर एक अंजान नम्बर से फोन आया। सिपाही द्वारा फोन उठाते ही सामने वाले व्यक्ति ने बताया कि आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ा दिया जाएगा। नाम पता पूछने पर उसने फौरन फोन काट दिया। इसके बाद सिपाही ने महानगर थाना में अज्ञात के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी को जान से मारने की धमकी के मामले में शिकायत दर्ज करायी है। पुलिस ने आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है।

उनका हर कार्य जनता की बेहतरी के लिए ही होता है

इस तरह से मंत्रियों को धमकी देने वालो के ऊपर सख्त से सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। जिससे पुलिस और प्रशासन का आगे से कीमती समय बच सके। पुलिस और प्रशासन के पास जानते के कार्यों को समय से पूरा करवाने का दवाब रहता है। अगर इस तरह के धमकी देने वाले लोगो का मनोबल इस तरह से बढता रहा तो इसमें पुलिस और प्रशासन का समय तो बर्बाद होगा ही, साथ में जिसको धमकी दी जा रही है, उसका भी मनोबल गिरेगा हालाकी सीएम योगी आदित्यनाथ किसी से डरने वाले नहीं हैं। वह बिना डरे साहसिक कार्य करने के लिए जाने जाते हैं। उनका हर कार्य जनता की बेहतरी के लिए ही होता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.