Manipur Violence: मणिपुर में कुकी उग्रवादियों के हमले में सीआरपीएफ के 2 जवान शहीद, एक साल से भड़की है हिंसा

Attack On Crpf Team : लोकसभा चुनाव के बीच मणिपुर में शुक्रवार की देर रात सुरक्षाबलों पर बड़ा हमला किया गया। इस हमले में दो जवानों की जान चली गई।
मणिपुर में सीआरपीएफ पर हमला।
मणिपुर में सीआरपीएफ पर हमला। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। मणिपुर में एक साल से भड़की हिंसा फिर उग्र हो रही है। शुक्रवार की देर रात कुकी उग्रवादियों ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी सीआरपीएफ की टीम पर हमला कर दिया। इस हमले में दो जवाब शहीद हो गए। घटना बिष्णुपर जिला अंतर्गत नारानसेना इलाके की है। इससे पहले कांगपोकपी, उखरूल और इंफाल पूर्व के ट्राइजंक्शन जिले में कुकी और मैतेई समुदाय के लोगों में फायरिंग हुई थी, जिसमें कुकी समुदाय के दो लोगों की जान चली गई थी।

थौबल में भी फिर भड़की है हिंसा

हाल में थौबल जिले के हेइरोक और तेंगनौपाल के बीच दो दिन दोनों ओर से फायरिंग हुई थी। इसके बाद इंफाल पूर्वी जिले के मोइरंगपुरेल में हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में कांगपोकपी और इंफाल पूर्व दोनों के हथियारबंद उपद्रवी शामिल थे।

3 मई 2023 से लगातार भड़क रही हिंसा

प्रदेश में बीते साल की 3 मई से लगातार हिंसा हो रही है। इसकी शुरुआत मैतेई समुदाय की अनुसूचित जनजाति दर्जे की मांग के विरोध में आयोजित आदिवासी एकजुटता मार्च के दौरान हुई थी। इस हिंसा में कुल 180 लोगों की जान चली गई है। बता दें यहां 53 प्रतिशत मैतेई समुदाय की आबादी है, जो ज्यादातर इंफाल घाटी में रहती है। दूसरी ओर कुकी समुदाय की आबादी 40 प्रतिशत हैं। ये लोग पहाड़ी क्षेत्रों में रहते हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.