Haryana Politics: चंडीगढ़ में बैठक छोड़कर क्यों चले गए थे अनिल विज; जानें क्या है नाराजगी की वजह

Haryana News: हरियाणा में नायब सिंह सैनी के मुख्यमंत्री बनने से अनिल विज ने नाराजगी जताई है। चंडीगढ़ में विधायकों की मीटिंग को बीच में ही छोड़कर अनिल विज अंबाला की ओर रवाना हो गए।
Anil Vij 
Haryana Politics
Anil Vij Haryana PoliticsRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। हरियाणा में आज राजनीतिक उथल-पुथल के बाद नायब सिंह सैनी हरियाणा के मुख्यमंत्री बने। लेकिन इस बात से अनिल विज की ओर से नाराजगी झलक रही है। चंडीगढ़ में विधायक दलों की मीटिंग के दौरान अनिल विज बीच में ही उठकर चले गए थे। सूत्रों के अनुसार, अनिल विज को BJP डिप्टी सीएम का पद दे सकती है।

अनिल विज ने गुस्सें में छोड़ी मीटिंग

अनिल विज BJP के दिग्गज नेता हैं। विज 6 बार लगातार विधायक रहे हैं। 2014 और 2019 विधानसभा चुनाव से अनिल विज को मुख्यमंत्री बनाने का नाम उछल रहा है। लेकिन मनोहरलाल खट्टर ने उनसे बाजी मार ली। मनोहर खट्टर सरकार में अनिल विज गृहमंत्री के पद पर थे। चंडीगढ़ में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंड्डा और तुरुण चौक के नेतृत्व में चली BJP विधायको की बैठक के बीच अनिल विज बीच में ही उठकर अंबाला की ओर रवाना हो गए। नायब सिंह सैनी को मुख्यमंत्री बनाने से अनिल विज सहमत नहीं थे। अनिल विज ने आज सरकारी गाड़ी और खाफिला छोड़कर प्राइवेट गाड़ी का विकल्प चुना और अंबाला में स्थित अपने घर की ओर निकल पड़े। उसके बाद, दप्पड़ टोल प्लाजा पर अनिल विज ने अपनी गाड़ी बुलाई और खुद ड्राइव करके घर चले गए। पार्टी अनिल विज को डिप्टी सीएम की कुर्सी पर बैठा सकती है।

अनिल विज की मुख्यमंत्री बनने की इच्छा रही अधूरी

News 18 की खबर के अनुसार, मनोहर खट्टर के इस्तीफे से पहले अनिल विज भी उनके साथ थे। दोनों नेता एक साथ गाड़ी में बैठकर राजभवन की ओर जा रहै थे। इस दौरान अनिल विज ने हाथ उठाकर अभिवादन भी किया। उनके चेहरे पर भी मुस्कान थी। सीएम रेस में उनका पहले से ही नाम शामिल था। ऐसे में उनकी नाम पर आज फिर उछाल आते-आते रह गया। पार्टी में इतने सालों से कार्यरत होने के बाद भी उनकी मुख्यमंत्री बनने की इच्छा का उन्हें और इंतजार करना पड़ेगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.