Boat Accident: वडोदरा में बोट पलटने से 16 छात्रों की मौत, SIT करेगी मामले की जांच, तालाब हुआ सील

Vadodara News: वडोदरा में नाव पलटने से 16 स्कूल के विद्यार्थियों की मौत हो गई है। एसीपी क्राइम ब्रांच को इसकी जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। हरणी तालाब को प्रशासन ने सील कर दिया है।
Vadodara Boat Accident
Vadodara Boat AccidentRaftaar.in

वडोदरा, हि.स.। वडोदरा के हरणी तालाब बोट हादसे की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) करेगी। राज्य सरकार ने अतिरिक्त पुलिस आयुक्त मनोज निनामा की अध्यक्षता में 7 पुलिस अधिकारियों को इसमें शामिल किया है। एसीपी क्राइम ब्रांच को इसकी जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। बोट में स्कूल के विद्यार्थियों से भरी बोट जा रही थी। तभी अचानक बोट पलटने से यह हादसा हुआ। जिसमें अबतक 16 विद्यार्थियों की मौत हो चुकी है। हादसे के समय सुरक्षा के नाम पर सब कुछ शून्य था। यदि समय होते बच्चों को सुरक्ष उपकरणों की मदद मिलती तो इतने सारे बच्चों की जान नहीं जाती।

हरणी तालाब की सभी एंट्री प्वाइंट को प्रशासन ने किया सील

हरणी बोट हादसा की जांच में पुलिस उपायुक्त जोन-4 वडोदरा पन्ना मोमाया (सुपरविजन अधिकारी), क्राइम ब्रांच के पुलिस उपायुक्त युवराज सिंह जाडेजा (सुपरविजन अधिकारी), क्राइम ब्रांच के ही सहायक पुलिस आयुक्त एच ए राठौड़ (जांच अधिकारी), हरणी थाने के पीआई सी बी टंडेल (सदस्य), क्राइम ब्रांच के पीआई एमएफ चौधरी (सदस्य), डीसीबी थाने के पीएसआई पीएम धाकडा (सदस्य) को शामिल किया गया है। इसके अलावा वडोदरा के हरणी तालाब की सभी एंट्री प्वाइंट को महानगर पालिका प्रशासन ने सील कर दिया है। फूड कोर्ट की दुकानों को भी सील करा दिया गया है।

18 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

हरणी तालाब हादसे को लेकर वडोदरा क्राइम ब्रांच ने अब तक 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में मेसर्स कोटिचा प्रोजेक्ट के संचालकों के खिलाफ हरणी थाने में शिकायत दर्ज की गई है। लापरवाही को लेकर 18 लोगों के विरुद्ध धारा 304, 308, 337, 338 और 114 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। वडोदरा महानगर पालिका के कार्यपालक इंजीनियर राजेश चौहान ने प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें हरणी लेक जोन में वर्ष 2017 से कामों का वर्क आर्डर मेसर्स कोटिचा प्रोजेक्ट को सौंपा गया है। इसमें अलग-अलग राइडस, खाने-पीने की दुकानों, ब्लैंकेट हॉल और बोटिंग आदि की सुविधा प्रदान करते हुए इसकी सभी प्रकार की जिम्मेदारी मेसर्स कोटिचा को प्रदान की गई है।

आरोपितों के नाम

बिनीत कोटिचा, हितेष कोटिचा, गोपालदास शाह, वत्सल शाह, दीपेन शाह, धर्मिल शाह, रश्मिकांत प्रजापति, जतिन दोशी, नेहा दोशी, तेजल दोशी, भीम सिंग यादव, वेदप्रकाश यादव, धर्मिन भटाणी, नूतन शाह, वैशाली शाह, मैनेजर शांतिलाल सोलंकी, बोट ऑपरेटर नयन गोहिल, बोट ऑपरेटर अंकित।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.