Ram Mandir: Congress-SP की सरकार ने अयोध्या नगरी को प्रतिबंधों और कर्फ्यू के दायरे में रखा: CM योगी

Lucknow: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधानसभा के पटल पर अयोध्यानगरी में हो रहे धार्मिक और विकास के कार्यों को गिनाया। इसी के साथ उन्होंने कांग्रेस और सपा की सरकार पर तंज कसा।
CM Yogi
CM Yogi Raftaar.in

लखनऊ, हि.स.। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को सदन में कहा कि पौराणिकता के साथ वैदिक रामायण सिटी के रूप में अयोध्या का विकास हो रहा है। भौतिक विकास की एक भव्य-दिव्य अयोध्या देखने को मिल रही है। भाजपा की आस्था थी, नीति साफ थी और नियत भी स्पष्ट थे। यही कारण है कि आज अयोध्या नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। विधानसभा सत्र के अंतर्गत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण (धन्यवाद प्रस्ताव) पर मुख्यमंत्री चर्चा कर रहे थे।

पिछली सरकारों में प्रतिबंधों और कर्फ्यू के दायरे में थी अयोध्या

योगी ने केंद्र-प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ कांग्रेस और सपा पर तंज कसा। कहा कि पिछली सरकारों में अयोध्या नगरी को प्रतिबंधों और कर्फ्यू के दायरे में रखा गया था। सदियाें तक अयोध्या कुत्सित मंशा के लिए अभिशिप्त थी। अयोध्या के साथ अन्याय हुआ, जैसे 5 हजार वर्ष पहले पांडवों के साथ अन्याय हुआ था।

विदेशी आक्रांताओं ने धन दौलत ही नहीं लूटा, आस्था को भी रौंदने का प्रयास किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या का उत्सव लोगों ने देखा तो नंदी बाबा ने कहा कि हम काहे इंतजार कर रहे, फिर वे इंतजार के बगैर रात्रि में बैरिकेड तोड़वा डाले और कृष्ण कन्हैया भी कहां मानने वाले हैं। योगी ने कहा कि विदेशी आक्रांताओं ने भारत से केवल धन दौलत ही नहीं लूटा था। आस्था को भी रौंदने का प्रयास किया था। दुर्भाग्य है कि आजादी के बाद उन विदेशी आक्रांताओं को महिमा मंडित करने के कुत्सित प्रयास हुए हैं वोट बैंक के लिए।

प्रभु श्रीराम को स्वयं जुटाने पड़े थे अपने अस्तित्व के प्रमाण

मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया की यह पहली घटना थी कि जहां प्रभु श्रीराम को अपने अस्तित्व के प्रमाण स्वयं जुटाने पड़े थे, लेकिन राम की मर्यादा हमें धैर्य की प्ररेणा देती है। उस धैर्य के साथ सनातनियाें ने संघर्ष किया और भारत के गौरव की प्राण प्रतिष्ठा हुई। आज अयोध्या को देखकर हर कोई अभिभूत है। यह कार्य बहुत पहले हो जाना चाहिए था। जनसुविधाओं के साथ विकास कार्य किए जा सकते थे, लेकिन किसी ने ऐसा नहीं सोचा।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.