Mission 2024: राहुल गांधी ने हिन्दू धर्म के शब्द 'शक्ति' को लेकर दिया बयान, PM मोदी ने बना लिया चुनावी अभियान

Rahul Gandhi Statement: राहुल गांधी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। लेकिन वह कभी कभी क्या बोल जाते हैं शायद उन्हें उसका मतलब खुद ही मालूम नहीं होता है।
Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi Vadra
Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi Vadraraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। राहुल गांधी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। लेकिन वह कभी कभी क्या बोल जाते हैं शायद उन्हें उसका मतलब खुद ही मालूम नहीं होता है। जिसका फायदा भाजपा को मिल जाता है और इस मुद्दे को लेकर BJP राहुल गांधी को घेर लेती है। अगर राहुल गांधी जानबूझकर ऐसा बोल रहे हैं तो यह उनके और उनकी पार्टी के लिए तो बहुत गलत है ही, वहीं अगर उन्हें ये पता ही नहीं है कि वह कब क्या बोल जाते हैं तो ये भी राहुल गांधी और उनकी पार्टी के लिए ठीक नहीं है। ऐसे में उनके पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को उनकी बातो को अपने बयानों से पलटते हुए या सफाई देते हुए देखा जा सकता है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पवन खेड़ा ने राहुल गांधी के शक्ति वाले बयान पर सफाई देते हुए कहा कि 'हम तो आसुरी शक्ति से लड़ रहे हैं।' चाहे कांग्रेस के नेता कितनी भी सफाई दे दें। राहुल गांधी अपने बयानों के जरिये भाजपा के चपेट में आ ही जाते हैं।

राहुल गांधी का शक्ति को लेकर बयान

दरअसल राहुल गांधी ने भारत जोड़ो न्याय यात्रा के समापन पर कहा कि हम बीजेपी से लड़ रहे हैं। लोग सोचते हैं कि हम एक राजनीतिक दल के खिलाफ लड़ रहे हैं, मगर ये सच नहीं है गलत है। उन्होंने कहा कि यह बात हिंदुस्तान और इसके युवाओ को समझना होगा। हम एक व्यक्ति, भाजपा और मोदी के खिलाफ भी नहीं लड़ रहे हैं। उन्होंने इसी बीच शक्ति के खिलाफ लड़ने का बयान दे डाला। राहुल ने कहा कि हिन्दू धर्म में शक्ति शब्द होता है। हम शक्ति से लड़ रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि अब सवाल उठता है कि शक्ति क्या है। जैसे किसी ने कहा, राजा की आत्मा ईवीएम में हैं। सही है आत्मा ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स हिंदुस्तान की हर संस्था में हैं।

पीएम मोदी ने ‘शक्ति’ वाले बयान को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना

इंडी गठबंधन के घोषणा पत्र में ‘शक्ति’ को लेकर टिप्पणी पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “इंडी गठबंधन के नेताओं ने शिवाजी पार्क से कहा कि इंडी अलायंस की लड़ाई शक्ति के साथ है। इंडी गठबंधन का घोषणापत्र शक्ति को लक्षित करता है, जो हर मां, बेटी और बहन का प्रतिनिधित्व करता है। मैं उन्हें शक्ति के रूप में सम्मान देता हूं और भारत माता की पूजा करता हूं। शक्ति को खत्म करने का उनका उद्देश्य एक चुनौती है जिसे मैं स्वीकार करता हूं। मैं आगे की लड़ाई के लिए तैयार हूं। इस पृथ्वी पर कोई भी शक्ति को नष्ट करने की बात कैसे कर सकता है जब हर कोई इसकी पूजा करता है?”

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.