Delhi News: संसद की सुरक्षा में सेंध के आरोपित ललित झा की पुलिस हिरासत बढ़ी, जानें पूरा मामला

Delhi News: दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने संसद की सुरक्षा में सेंध के आरोपित ललित झा की पुलिस हिरासत 5 जनवरी 2024 तक बढ़ा दी है। आज ललित झा की पुलिस हिरासत खत्म हो रही थी।
Lalit Jha
Lalit Jharaftaar.in

नई दिल्ली, (हि.स.)। दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने संसद की सुरक्षा में सेंध के आरोपित ललित झा की पुलिस हिरासत 5 जनवरी 2024 तक बढ़ा दी है। आज ललित झा की पुलिस हिरासत खत्म हो रही थी जिसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। एडिशनल सेशंस जज हरदीप कौर ने पुलिस हिरासत बढ़ाने का आदेश दिया।

ललित झा ने ही इस घटना को अंजाम देने के लिए योजना बनाई थी

आज ललित झा की पेशी के दौरान दिल्ली पुलिस ने 15 दिनों की पुलिस हिरासत बढ़ाने की मांग की। दिल्ली पुलिस ने कहा कि इस मामले की जांच के लिए ललित झा की हिरासत बढ़ाने की जरूरत है। कोर्ट ने ललित झा को 15 दिसंबर को आज तक की पुलिस हिरासत में भेजा था। ललित झा को 14 दिसंबर की रात को गिरफ्तार किया गया था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक ललित झा ने ही इस घटना को अंजाम देने के लिए योजना बनाई थी।

आरोपितों ने लखनऊ से जूते और मुंबई से कलर स्मॉग केन खरीदे थे

कोर्ट ने 21 दिसंबर को इस मामले के चार आरोपितों की पुलिस हिरासत 15 दिनों के लिए बढ़ाई थी। 14 दिसंबर को चारों आरोपितों को 21 दिसंबर तक की पुलिस हिरासत में भेजा था। कोर्ट ने नीलम, सागर शर्मा, डी. मनोरंजन और अमोल शिंदे को पुलिस हिरासत में भेजा था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक आरोपितों ने लखनऊ से जूते और मुंबई से कलर स्मॉग केन खरीदे थे।

आरोपितों के खिलाफ यूएपीए की धारा 16ए के तहत एफआईआर दर्ज

दिल्ली पुलिस ने इन आरोपितों के खिलाफ यूएपीए की धारा 16ए के तहत एफआईआर दर्ज की है। 13 दिसंबर को संसद की विजिटर गैलरी से दो आरोपित सदन में कूदे। कुछ ही देर में एक आरोपित ने डेस्क के ऊपर चलते हुए अपने जूतों से कुछ निकाला और अचानक पीले रंग का धुआं निकलने लगा। इस घटना के बाद सदन में अफरातफरी मच गई।

किस तरह से घटना को अंजाम दिया गया

हंगामा और धुएं के बीच कुछ सांसदों ने इन युवकों को पकड़ लिया और इनकी पिटाई भी की। कुछ देर बाद संसद के सुरक्षाकर्मियों ने दोनों युवकों को काबू किया। संसद के बाहर भी दो लोग पकड़े गए जो नारेबाजी कर रहे थे और पीले रंग का धुआं छोड़ रहे थे।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.