Congress Donation Campaign: कांग्रेस के चंदा अभियान पर लगा ग्रहण! खाते का बदला पता, कोई और हो रहा मालामाल

New Delhi: कांग्रेस द्वारा चलाए जा रहे 'डोनेट फॉर देश' अभियान को लेकर एक बार फिर उलझनों में फंस गई है। इस बार शर्मिंदगी और भी गंभीर है क्योंकि पार्टी ने एक फर्जी वेबसाइट को बढ़ावा दिया है।
Congress Donation Campaign
Congress Donation Campaign Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। कांग्रेस द्वारा पिछले महीने से चलाए जा रहे 'डोनेट फॉर देश' अभियान को लेकर एक बार फिर खुद को शर्मिंदा करने में कामयाब रही है। इस बार शर्मिंदगी और भी गंभीर है क्योंकि पार्टी ने एक फर्जी वेबसाइट को बढ़ावा दिया है जो आधिकारिक अभियान वेबसाइट के समान दिखती है, लेकिन जहां पैसा कांग्रेस पार्टी के बजाय किसी और के पास जाता है। कांग्रेस पार्टी को जैसे ही इस बारे में पता चला उन्होंने तुरंत अपने एक्स हैंडल पर इस बात की सूचना दी।

कांग्रेस के साथ हुई हेरफेर

बुधवार को कांग्रेस ने राहुल गांधी की आगामी 'भारत न्याय यात्रा' से पहले एक विशेष पैम्फलेट जारी किया। पैम्फलेट में 'डोनेट फॉर देश' वेबसाइट के क्यूआर कोड और यूआरएल का भी उल्लेख किया गया था, सिवाय इसके कि दोनों गलत थे। आधिकारिक 'डोनेट फॉर देश' अभियान का यूआरएल Donateinc.in है, लेकिन पैम्फलेट पर Donateinc.co.in छपा हुआ था और क्यूआर कोड में भी इसका इस्तेमाल किया गया था।

फर्जी वेबसाइट का कोई और उठा रहा फायदा

संयोग है या नहीं, Donateinc.co.in पर जो कि गलत पता है, एक वेबसाइट मौजूद है जिसने कांग्रेस की आधिकारिक और 'सही' क्राउडफंडिंग वेबसाइट से अधिकांश पाठ, चित्र और शैली की नकल की है।

जाहिर तौर पर यह एक फर्जी वेबसाइट है जिसे जानबूझकर कांग्रेस पार्टी को दान देने के इच्छुक लोगों को धोखा देने के लिए लक्षित किया गया है। यदि कोई व्यक्ति पर्याप्त सतर्क नहीं है, तो वह सोचेगा कि पैसा कांग्रेस पार्टी को जा रहा है, लेकिन वास्तव में यह अज्ञात लोगों के पास जाता है। फर्जी वेबसाइट (इस रिपोर्ट के प्रकाशन के समय भी सक्रिय) केवल UPI ऐप्स के माध्यम से दान स्वीकार कर रही है।

कांग्रेस को कोई दे रहा धोखा

चूंकि क्यूआर कोड और यूआरएल कांग्रेस पार्टी द्वारा एक आधिकारिक दस्तावेज़ यानी राहुल गांधी की आगामी यात्रा को बढ़ावा देने वाले एक पुस्तिका में दिया गया था, इसलिए उपयोगकर्ताओं को वेबसाइट के नकली होने का संदेह नहीं होगा क्योंकि इसने आधिकारिक वेबसाइट से लगभग सब कुछ कॉपी किया था। उपयोगकर्ता को लेन-देन पूरा करते समय यह देखने के लिए अतिरिक्त सतर्क रहना होगा कि पैसा कहीं और जा रहा है। पैसा डॉनेट करने वाला कांग्रेस को भुगतान कर रहा है, लेकिन नीचे दिया गया बैंकिंग नाम यह बताता है यह घोटाला है क्योंकि इसमें "रोज कैश" लिखा है।

कांग्रेस को उठाना पड़ा नुकसान

हालाँकि, हर कोई इसे नोटिस करने के लिए सतर्क नहीं होगा और किसी गड़बड़ी का संदेह नहीं करेगा क्योंकि वे कांग्रेस पार्टी द्वारा दिए गए एक आधिकारिक दस्तावेज़ से क्यूआर कोड को स्कैन करने के बाद वेबसाइट पर पहुंचे थे। मीडिया रिपोर्ट्स का दावा है कि इस गलती की वजह से कांग्रेस को अब तक लाखों रुपये का नुकसान हो चुका है। एक साधारण गूगल खोज से पता चलता है कि "Roj Cash" नाम के कुछ ऐप हैं जो खिलाड़ियों को डाउनलोड करने साइन अप करने और कुछ गतिविधियाँ करने पर पैसे देने का वादा करते हैं।

यह निश्चित रूप से नहीं कहा जा सकता है कि कांग्रेस समर्थकों को धोखा देने के उद्देश्य से यह फर्जी वेबसाइट ऐसे ऐप्स के मालिकों द्वारा बनाई गई है। यह निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि यह एक शुद्ध घोटाला है और कई कांग्रेस समर्थकों को पैसे का नुकसान हुआ होगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.