भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का बड़ा बयान, बोले- किसानों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं

Farmer Protest: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली आ रहे किसानों के साथ किसी तरह का अन्याय नहीं होना चाहिए।
Rakesh Tikait
Rakesh Tikaitraftaar.in

नई दिल्ली, (हि.स.)। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली आ रहे किसानों के साथ किसी तरह का अन्याय नहीं होना चाहिए।

कुछ पूंजीपतियों ने देश पर कब्जा कर लिया है

टिकैत ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि कुछ पूंजीपतियों ने देश पर कब्जा कर लिया है। ऐसे में किसानों को दिक्कत होना स्वाभाविक है लेकिन सरकार अगर किसानों के साथ अन्याय करेगी तो सभी किसान संगठन एकजुट हैं। किसानों के लिए दिल्ली दूर नहीं है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान सरकार ने कुछ वादे किए थे, जिसे वह भूल गई है। बीते तीन वर्षों में केन्द्र सरकार ने किसानों से कोई बात नहीं की है।

दिल्ली दूर नहीं है

उल्लेखनीय है कि पंजाब और हरियाणा की ओर से कुछ किसान संगठन अपनी 10 सूत्री मांगों को लेकर आज दिल्ली कूच पर निकले हैं। इन किसानों को दिल्ली के पहले ही रोक लिया गया है। पुलिस और किसानों के बीच बढ़ते टकराव को देखते हुए टिकैत ने किसानों के साथ खड़े रहने का संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली दूर नहीं है। कुछ लोग आज पहुंच रहे हैं और कुछ लोग एक-दो दिन बाद दिल्ली पहुंच जाएंगे।

किसानो का प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है

किसानो का प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है, किसानो ने रबर बुलेट से हमला शुरू कर दिया है। आज तक से न्यूज़ कवर कर रहे सत्येंद्र को भी माथे में रबर बुलेट लगा है। किसानों को अपनी मांग शांति से प्रोटेस्ट के माध्यम करने का अधिकार है। लेकिन इस तरह के उपद्रव से उनका आंदोलन एक दंगे से ज्यादा और कुछ नहीं लगेगा। किसान नेताओं को उपद्रव करने वाले किसानों को समझाना चाहिए। इससे उनके आंदोलन को ही फर्क पड़ेगा। यह आंदोलन सिर्फ एक हंगामा बन कर रह जायेगा। किसान पुलिस पर पथरो से हमला कर रहे हैं। वहीं पुलिस भी जवाब में ड्रोन से आंसू गैस के गोले छोड़ रहे हैं। किसान किसी भी हाल में आगे बढ़ना चाह रहे हैं।

दिल्ली आने से रोकने के लिए सभी बॉर्डरों में किलेबंदी कर दी है

पुलिस ने किसानो को समझाया गया कि धारा 144 लगी हुई है, आप आगे नहीं बढ़ सकते हैं। लेकिन शंभु बॉर्डर में किसान पुलिस की बात मानने के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं है। किसानों का पुलिस पर पथराव जारी है। किसानों को रोकने के लिए पुलिस जैसे ही ड्रोन से आंसू गैस छोड़ती है, किसान आंसू गैस का असर कम होते ही फिर से आगे बढ़ने की कोशिश करते हैं और पुलिस पर पथराव करते हैं।

वहीं दिल्ली पुलिस ने सभी बॉर्डरों में मल्टी बैरिकेडिंग कर दी है। दिल्ली पुलिस ने किसानो को दिल्ली आने से रोकने के लिए सभी बॉर्डरों में किलेबंदी कर दी है। हरियाणा सरकार से भी पत्र लिखकर किसानों को दिल्ली में प्रवेश न होने देने के लिए प्राथना की है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.