नवादा जिले में सूर्य मंदिर पोखर की खुदाई में मिली हरि नारायण जी की दुर्लभ पौराणिक प्रतिमा

समाजसेवी तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रखर नेता धनंजय कुमार उर्फ बिट्टू ने बताया कि गांव में जहां भी खुदाई होती है ,दुर्लभ और पौराणिक प्रतिमाओं का मिलने का सिलसिला लगातार जारी है ।
नवादा जिले में सूर्य मंदिर पोखर की खुदाई में मिली हरि नारायण जी की दुर्लभ पौराणिक प्रतिमा

नवादा , हिन्दुस्थान समाचार। जल जीवन हरियाली मिशन के तहत नवादा जिले के सदर प्रखंड के समय चल रहे सूर्य मंदिर पोखर की खुदाई के दौरान भगवान श्री हरि नारायण जी की दुर्लभ पौराणिक प्रतिमा मिली है। विशेषज्ञों ने इस प्रतिमा को पाल काल निर्मित बताया है जो कीमती अष्ट धातु के बने हैं। इसके पूर्व भी इस तालाब से कई देवी देवताओं के दुर्लभ प्रतिमाएं भी मिल चुकी है।

प्रतिमा को सुरक्षित व संरक्षित नहीं किया जा रहा

समाजसेवी तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रखर नेता धनंजय कुमार उर्फ बिट्टू ने बताया कि गांव में जहां भी खुदाई होती है ,दुर्लभ और पौराणिक प्रतिमाओं का मिलने का सिलसिला लगातार जारी है । यह हमारे गांव के लिए बेहद खुशी की बात है।लगातार दुर्लभ बहुमूल्य पौराणिक प्रतिमाओं का मिलना गांव के सुनहरे गौरवशाली अतीत को दर्शाता है।जहां कहीं भी खुदाई होता है वहां पर पौराणिक प्रतिमा ही निकलती है पर दुख इस बात की है कि प्रतिमा को सुरक्षित व संरक्षित नहीं किया जा रहा है। पिछले वर्ष दुर्लभ प्रतिमा की चोरी हो जाने से ग्रामीण बेहद दुखी है।

अर्कलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के हाथों में जांच की सौंपे जिम्मेवारी

उन्होंने कहा कि अपने गांव के तमाम युवा साथी एवं नवादा जिले के तमाम मीडिया व अधिकारियों से आग्रह करते हैं कि सरकार इलाकों का उत्खनन करा कर अर्कलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के हाथों में जांच की जिम्मेवारी सौंपे। ताकि हमारे गांव के गौरवशाली अतीत को प्रमुखता से दिखलाने में मदद हो। जिससे आने वाले पीढ़ियों को हम अपने गौरवशाली अतीत के बारे में जानकारी दे सकें।

Related Stories

No stories found.