Bihar News: चुनाव से पहले BJP ने दिग्गजों का किया पत्ता साफ, मार्गदर्शक मंडल में पहुंचे मोदी, चौबे और शाहनवाज!

Loksabha Election 2024: बिहार लोकसभा चुनाव को लेकर राज्य की सियासी हलचल बढ़ गयी है। बिहार में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन का अंतिम दिन 28 मार्च को है।
Sushil Modi, Ashwini Chaubey and Shahnawaz Hussain
Sushil Modi, Ashwini Chaubey and Shahnawaz Hussainraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। बिहार लोकसभा चुनाव को लेकर राज्य की सियासी हलचल बढ़ गयी है। बिहार में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन का अंतिम दिन 28 मार्च को है। वहीं राज्य में होली के उपलक्ष्य में नेता आम लोगो से गले मिल रहे हैं। बिहार में घोषित प्रत्याशियों के नामों से ज्यादा भाजपा के 3 बड़े नेताओं की चर्चा ज्यादा हो रही है। इन तीन नेताओं का नाम है सुशील कुमार मोदी, अश्विनी कुमार चौबे और सैयद शाहनवाज हुसैन।

सुशील मोदी ने इसको लेकर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है

सुशील मोदी का बिहार भारतीय जनता पार्टी में दो दशकों तक अपना जलवा रहा है। उन्होंने बिहार की राजनीती में अपना बड़ा योगदान दिया है। सुशील मोदी ने लालू यादव और राबड़ी देवी के प्रदेश में मुख्यमंत्री रहते हुए विपक्षी नेता के रूप में अपना योगदान दिया। वहीं नीतीश कुमार के प्रदेश में मुख्यमंत्री रहते हुए सुशील मोदी ने बिहार के उपमुख्यमंत्री और वित्तमंत्री के रूप में अपना योगदान दिया। वर्ष 2020 में विधानसभा चुनाव में भाजपा विधायकों के हिसाब से दूसरे स्थान पर रही। लेकिन सीएम नीतीश कुमार की चाहत के बावजूद सुशील मोदी को बिहार की राजनीति में किनारे कर दिया गया और उन्हें उपमुख्यमंत्री नहीं बनाया गया।

कुछ समय बाद सुशील मोदी को राज्यसभा भेज दिया गया था। अब वह पूर्व राज्यसभा सांसद हैं। जब राज्यसभा के लिए भी सुशील मोदी का नाम नहीं आया तो ये कयास लगाए जा रहे थे कि उनको भागलपुर लोकसभा सीट या पटना लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया जा सकता है। वह भागलपुर से सांसद भी रह चुके हैं। वहीं राज्यसभा और विधानसभा परिषद के बाद लोकसभा सीटों का ऐलान भी हो गया। लेकिन सुशील मोदी का नाम नहीं आया। पार्टी ने उनके लिए क्या सोचा है, कुछ समय बात इसका खुलासा हो जायेगा। लेकिन सुशील मोदी ने इसको लेकर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

अश्विनी चौबे ने भी इस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी

अश्विनी चौबे ने भागलपुर क्षेत्र से काफी समय तक अपनी बिहार की राजनीति की पारी खेली। वहीं बक्सर से केंद्र की राजनीति तक का सफर किया। वह अभी केंद्रीय मंत्री हैं। यह तो साफ हो गया है कि बिहार में जून-2024 में सरकार कोई भी बनाये। लेकिन इस बार वह मंत्री नहीं बन पाएंगे। उन्हें बक्सर से लोकसभा का टिकट नहीं दिया गया है। उनकी जगह इस लोकसभा का टिकट मिथिलेश तिवारी को दे दिया गया है। चौबे भागलपुर लोकसभा सीट में भी पूरी तरह प्रयासरत थे। लेकिन उन्हें यहाँ से भी टिकट नहीं मिला है। पार्टी में उन्हें कुछ और जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं अश्विनी चौबे ने भी इस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि राज्य की 40 सीट अपनी है

शाहनवाज हुसैन को भी इस बार लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा में कोई जगह नहीं दी गई है। उन्होंने भाजपा में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाई है। वह भागलपुर और किशनगंज से लोकसभा चुनाव के लिए प्रयासरत बताये जा रहे थे। लेकिन भाजपा में उनके हिस्से की सीट को जदयू के खाते में दे दिया। वहीं शाहनवाज हुसैन ने एक मीडिया हाउस को इसको लेकर जवाब में कहा कि राज्य की 40 सीट अपनी है। उन्होंने कहा कि जो राजनीति में जन्म के समय से भाजपाई हैं। उनकी आस्था में कोई बदलाव नहीं हो सकता है। शाहनवाज हुसैन ने एक मीडिया हाउस का फ़ोन कॉल उठाते हुए यह सब जानकारी उन्हें दी और अपने को भाजपा के साथ हर परिस्थिति में खड़े रहने की बात कही।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.