पुतिन के विरोधी नवलनी को अंतिम विदाई देने हजारों की संख्या में उमड़े समर्थक, राष्ट्रपति को दिया बड़ा संदेश

Alexei Navalny: रूस की सरकारी एजेंसी क्रेमलिन की चेतावनी के बावजूद शुक्रवार को राष्ट्रपति पुतिन के विरोधी एलेक्सी नवलनी की अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में समर्थक शामिल होकर उनको श्रद्धांजलि दी।
पुतिन के विरोधी नवलनी को अंतिम विदाई देने हजारों की संख्या में उमड़े समर्थक
पुतिन के विरोधी नवलनी को अंतिम विदाई देने हजारों की संख्या में उमड़े समर्थकraftaar.in

मास्को, (हि.स.)। रूस की सरकारी एजेंसी क्रेमलिन की चेतावनी के बावजूद शुक्रवार को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के विरोधी एलेक्सी नवलनी की अंतिम यात्रा में हजारों की संख्या में समर्थक शामिल होकर उनको श्रद्धांजलि दी। अंतिम यात्रा में शामिल समर्थक नवलनी-नवलनी के नारे लगाते हुए कह रहे थे कि आप डरे नहीं थे, हम भी नहीं डरेंगे। आपकी मौत के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को नहीं छोड़ा जाएगा। इस दौरान आसपास कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। उन्हें मास्को में मास्कोमें दफनाया गया।

नवलनी के समर्थक अंतिम यात्रा का लाइव प्रसारण कर रहे थे

नवलनी की अंतिम यात्रा में उनकी मां ल्यूडमिला और पिता अनातोली भी शामिल हुए। रूस से बाहर होने के कारण उनकी पत्नी और बच्चे इसमें शामिल नहीं हुए। भीड़ के बीच कई लोगों ने हाथों में फूल लिए अंतिम विदाई दे रहे थे। कई राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के विरोध में नारे लगा रहे थे। नवलनी के समर्थक अंतिम यात्रा का लाइव प्रसारण कर रहे थे। स्थानीय मीडिया ने इसे काफी कम कवरेज दिया।

यूलिन ने पुतिन पर सार्वजनिक अंतिम संस्कार को रोकने की कोशिश का आरोप लगाया

इसमें भाग लेने वालों में अमेरिकी राजदूत लिन ट्रेसी सहित पश्चिमी राजनयिक, राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बोरिस नादेजदीन और येकातेरिना डंटसोवा भी शामिल थे। उनकी पत्नी यूलिन ने पुतिन और मास्को के मेयर सर्गेई सोबयानिन पर सार्वजनिक अंतिम संस्कार को रोकने की कोशिश का आरोप लगाया।

22 लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने से पहले हिरासत में ले लिया गया

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को एलेक्सी नवलनी के अंतिम संस्कार में शामिल एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही अन्य 22 लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने से पहले हिरासत में ले लिया गया।

सबकी अपनी अपनी विचारधारा होती है। हर किसी को अपने विचार रखने का अधिकार है। बस उस विचारधारा से किसी तरह का आम लोग पर जानमाल का नुकसान न हो। किसी को भी इस तरह रोकना ठीक नहीं है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.