पवन दावुलुरी को मिली Microsoft Windows की जिम्मेदारी, IIT Madras से हैं ग्रेजुएट; उनके करियर पर एक नजर

Microsoft Windows: भारत के एक और लाल ने विदेश में देश का नाम रोशन किया है। दरअसल IIT Madras से पढाई करके अपनी आगे के करियर की सफल यात्रा करने वाले पवन दावुलुरी को Microsoft ने नई जिम्मेदारी सौपी है।
Pawan Davuluri
Pawan Davuluriraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। भारत के एक और लाल ने विदेश में देश का नाम रोशन किया है। दरअसल IIT Madras से पढाई करके अपनी आगे की करियर की सफल यात्रा करने वाले पवन दावुलुरी को Microsoft ने नई जिम्मेदारी सौपी है। पवन को Microsoft के Windows और Surface का बॉस बनाया गया है। इससे पहले Microsoft के इस पद पर Panos Panay थे, जो इस डिपार्टमेंट के हेड थे। Panos Panay ने माइक्रोसॉफ्ट को छोड़कर पिछले साल Amazon को ज्वाइन कर लिया था।

Microsoft के Windows और Surface दोनों की जिम्मेदारी पवन दावुलुरी को सौपी

माइक्रोसॉफ्ट ने पहले ही Windows और Surface को अलग अलग कर दिया था। इन दोनों डिपार्टमेंट की लीडरशिप भी अलग थी। इससे पहले पवन दावुलुरी को Surface Silicone का कार्यभार मिला हुआ था। उस समय Windows का कार्यभार Mikhail Parakhin को सौंपा गया था। लेकिन Mikhail Parakhin नए रोल को एक्स्प्लोर करना चाहते हैं। जिसके कारण Microsoft के Windows और Surface दोनों की जिम्मेदारी पवन दावुलुरी को सौपी गयी है। पवन दावुलुरी ने भारत के प्रसिद्ध इंस्टिट्यूट IIT Madras से ग्रेजुएशन की थी। पवन का माइक्रोसॉफ्ट हेड बनते ही, उनकी भी गिनती उन भारतीय मूल के लोगो में शामिल हो गयी है जो अमेरिकी कंपनी में नेतृत्व कर रहे हैं। जिसमे सुंदर पिचाई और सत्य नडेला जैसे बड़े नाम पहले ही शामिल हैं।

उनकी माइक्रोसॉफ्ट में शुरुआत Reliability Component Manager के रूप में हुई

पवन दावुलुरी ने माइक्रोसॉफ्ट में शुरुआत 23 साल पहले की थी। उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन IIT मद्रास से की थी। पवन दावुलुरी ने अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन की पढाई यूनिवर्सिटी और मैरीलैंड से की। जिसके बाद वह माइक्रोसॉफ्ट में शामिल हो गए थे। उनकी माइक्रोसॉफ्ट में शुरुआत Reliability Component Manager के रूप में हुई थी। मिली जानकारी के अनुसार एक इंटरनल लेटर से इस जानकारी का खुलासा हुआ, द वर्ज के हाथ यह जानकारी लगी। जिससे पवन दावुलुरी के पद की जानकारी का पता चला।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.