मालदीव के रक्षा मंत्री घासन मौमून ने भारतीय सेना पर सीक्रेट ऑपरेशन चलाने का लगाया आरोप, भारत ने किया खंडन

Maldives: इसको लेकर मालदीव में भारतीय एम्बेसी ने एक बयान जारी कर, मालदीव के रक्षामंत्री घासन मौमून के इन आरोपों का खंडन कर दिया है।
Mohamed Muizzu
Mohamed Muizzuraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। भारत ने 14 मई 2024 को मालदीव के रक्षामंत्री घासन मौमून के उन आरोप का खंडन कर दिया है, जिसमे उन्होंने कहा था कि मालदीव में तैनात भारतीय सैन्य हेलिकॉप्टर पायलटों ने वर्ष 2019 में एक गैरकानूनी ऑपरेशन को अंजाम दिया था। इसको लेकर मालदीव में भारतीय एम्बेसी ने एक बयान जारी कर, मालदीव के रक्षामंत्री घासन मौमून के इन आरोपों का खंडन कर दिया है।

आपसी तालमेल के साथ ही सारे ऑपरेशन को किया था: भारत

मालदीव में भारतीय एम्बेसी ने कहा है कि भारतीय विमानन कंपनियों ने मालदीव के नियमों और प्रक्रियाओं के दायरे में रहते हुए ही अपना कार्य किया है। मालदीव के रक्षा मंत्री ने माले में एक प्रेस कांफ्रेंस को 11 मई 2024 को संबोधित करते हुए था कहा कि वर्ष 2019 में मालदीव में तैनात भारतीय सैन्य हेलिकॉप्टर पायलटों ने थिमाराफुशी में एक सीक्रेट हेलिकॉप्ट की लैंडिंग की थी। मालदीव के रक्षा मंत्री घासन मौमून ने कहा था कि उन्होंने नेशनल सिक्योरिटी सर्विस मामले की संसदीय समिति की रिपोर्ट को देखा है, जिसके आधार पर वह ये बात कर रहे हैं। इसको लेकर मालदीव में भारतीय एम्बेसी ने मौमून के आरोपों का खंडन कर दिया है और साफ साफ कह दिया है कि भारतीय सैन्य कर्मियों ने मालदीव नेशनल डिफेन्स फोर्स के साथ आपसी तालमेल के साथ ही सारे ऑपरेशन को किया था।

जिसके लिए मालदीव के एयर ट्रैफिक कंट्रोल से अनुमति ली गई थी

भारतीय एम्बेसी ने रक्षा मंत्री मौमून के आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि 9 अक्टूबर 2019 को चालक दल की सुरक्षा के कारणों को धयान में रखते हुए ही थिमाराफुशी में एक हेलिकॉप्टर की इमरजेंसी लैंडिंग की गई थी। जिसके लिए मालदीव के एयर ट्रैफिक कंट्रोल से अनुमति ली गई थी। मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू ने कुछ समय पहले मालदीव से भारतीय सैनिको को वापस भारत भिजवा दिया था, जो मालदीव के सेनिको को भारत के द्वारा उपहार में दिए गए हेलिकॉप्टरों को उड़ाना सीखा रहे थे। अब भारतीय सैनिको को वापस भारत बुला लेने के कुछ दिन बाद मालदीव के रक्षा मंत्री इस तरह के आरोप लगा रहे हैं। जिसका भारत ने खंडन कर दिया है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.