KGF स्टार Yash थिएटर में थे बैकअप वर्कर, नाम बदलते ही बदली किस्मत, लव स्टोरी भी बिल्कुल फिल्मी

Yash Birthday: फिल्म केजीएफ फेम यश का आज जन्मदिन है। केजीएफ फ्रेंचाइजी की अपार सफलता के बाद इनको 'पैन इंडियन स्टार' का दर्जा मिला है।
यश।
यश।@TheNameIsYash एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। फिल्म केजीएफ फेम यश का आज जन्मदिन है। केजीएफ फ्रेंचाइजी की अपार सफलता के बाद इनको 'पैन इंडियन स्टार' का दर्जा मिला है। वैसे, एक्टर ने 2000 के दशक में कॅरियर शुरू किया और 'रॉकिंग स्टार' का दर्जा हासिल करने के लिए उन्हें संघर्षों का सामना करना पड़ा। मिडिल क्लास परिवार से आने वाले यश को 2018 में आई फिल्म केजीएफ ने देश का बड़ा सुपरस्टार बना दिया। एक्टर जल्द 'केजीएफ 3' में नजर आएंगे। बता दें यश का असली नाम नवीन कुमार गौड़ा है। उन्होंने बाद में अपना स्टेज नाम यश रख लिया। कर्नाटक में इस शब्द का अर्थ अद्वितीय होता है।

2003 में थिएटर ग्रुप से जुड़े थे

पहली बार 2003 में यश बेंगलुरु में थिएटर ग्रुप में शामिल हुए थे। वहां बैकअप वर्कर के रूप में काम किया। उन्होंने बाद में टेलीविजन शो में काम शुरू किया। कई शो में काम किया। फिर 2007 में एक्टर यश ने 'जंबाडा हुडुगी' के साथ फिल्मों में काम की शुरुआत की। इस फिल्म सहायक भूमिका में थे। 2008 में यश ने'मोगिना मनसु' में काम किया। उन्हें इसके लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला था।

को-एक्ट्रेस से प्यार और फिर शादी

यश और उनकी पत्नी राधिका पंडित ने टेलीविजन शो में साथ काम किया है। 2008 में टीवी शो मोगिना मनसु में भी साथ काम किया। कई वर्षों तक साथ काम करने के बाद यश और राधिका एक-दूसरे को डेट करने लगे। हालांकि रिश्ते को प्राइवेट रखा। फिर दिसंबर 2016 में शादी की। इनके दो बच्चे हैं।

सिर्फ 300 रुपए लेकर आए थे बेंगलुरु

यश को बचपन से ही एक्टिंग का शौक था। उन्होंने 12वीं क्लास के बाद पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी। यह एक्टर बनने के लिए परिवार से दूर बैंगलुरु आए थे। जब इस शहर में आए थे तो उनके पास सिर्फ 300 रुपए थे। यश को तब पैसों के कारण बहुत सारी परेशानियों से जूझना पड़ा था, जिसकी वजह से एक रात बस स्टैंड पर सोकर गुजारी थी।

असिस्टेंट डायरेक्टर के लिए भी हुए थे सिलेक्ट

यश को अस्टिटेंट डायरेक्टर के लिए भी सिलेक्ट किया गया था। फिल्म की शूटिंग हुई थी, लेकिन फिर बंद हो गई।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.