Nifty Next 50 Index: निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स में इन शेयरों को मिल सकती है जगह, केनरा-बंधन बैंक पर बड़ा अपडेट

Nifty Next 50 Index Shuffle: प्रमुख शेयर बाजार निफ्टी के अलग-अलग सूचकांकों में मार्च में बदलाव होने हैं। इसका असर प्रमुख सूचकांकों में से निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स पर भी पड़ने वाला है।
निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स और अडानी पावर।
निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स और अडानी पावर।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। प्रमुख शेयर बाजार निफ्टी के अलग-अलग सूचकांकों में मार्च में बदलाव होने हैं। इसका असर प्रमुख सूचकांकों में से निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स पर भी पड़ने वाला है। कई नए शेयरों को निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स में जगह मिल सकती है। नुवामा अल्टरनेटिव एंड क्वान्टिटेटिव रिसर्च के नोट में अनुमान जताया गया है कि अडानी पावर लिमिटेड, जियो फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड, पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (पीएफसी), पॉलीकैब इंडिया लिमिटेड और इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईआरएफसी) को इंडिसेज के अगले फेरबदल में निफ्टी नेक्स्ट 50 इंडेक्स में रखा जा सकता है। आरईसी लिमिटेड, मैक्रोटेक डेवलपर लिमिटेड और एचडीएफसी एएमसी लिमिटेड में से किसी एक शेयर को भी निफ्टी नेक्स्ट 50 में जगह मिल सकती है।

केनरा बैंक कर सकता है बंधन बैंक को रिप्लेस

रिसर्च नोट के अनुसार निफ्टी बैंक इंडेक्स में बंधन बैंक को केनरा बैंक रिप्लेस कर सकता है। निफ्टी के सबसे महत्वपूर्ण सूचकांक निफ्टी 50 में यूपीएल लिमिटेड को बाहर कर श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड शामिल हो सकता है। नुवामा अल्टरनेटिव एंड क्वान्टिटेटिव रिसर्च के अनुसार निफ्टी आईटी सूचकांक में बदलाव नहीं होगा।

कट-ऑफ डेट 31 जनवरी

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) के अलग-अलग सूचकांकों में नियमित अंतराल पर बदलाव होते हैं। शेयरों को उनके बाजार पूंजीकरण के अनुसार किसी इंडेक्स में रखा जाता या बाहर निकाला जाता है। अगले फेरबदल के लिए कटऑफ डेट 31 जनवरी है। 31 जनवरी को अलग-अलग कंपनियों का जो बाजार पूंजीकरण होगा, उसके मुताबिक ही उन्हें संबंधित इंडेक्स में जगह मिल जाएगी। फरवरी अंत तक फेरबदल का ऐलान हो जाएगा। 31 मार्च से बदलाव प्रभावी होगा।

जियो फाइनेंशियल को 66 मिलियन डॉलर का इनफ्लो

जो शेयर बड़े इंडेक्स का हिस्स बनेंगे, उन्हें बढ़े निवेश यानी इनफ्लो का फायदा मिलने वाला है। निफ्टी नेक्स्ट 50 में शामिल होने से जियो फाइनेंशियल को 66 मिलियन डॉलर का इनफ्लो मिल सकता है। आईआरएफसी को 15 मिलियन डॉलर, पीएफसी को 45 मिलियन डॉलर, पॉलीकैब इंडिया को 20 मिलियन डॉलर, अडानी पावर को 33 मिलियन डॉलर, आरईसी को 40 मिलियन डॉलर, मैक्रोटेक डेवलपर्स को 20 मिलियन डॉलर, एचडीएफसी एएमसी को 24 मिलियन डॉलर के इनफ्लो का लाभ होने की संभावना है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.