Vastu Tips: पूजा में चढ़ाए गए फूलों को न करें वेस्ट, इस तरह करें वास्तु उपाय घर में आएगी सुख-समृद्धि

आपको पता नहीं होगा कि भगवान को चढ़ाए जाने वाले फूल सूख जाने के बाद भी बड़े काम आते हैं।
Vastu Tips of Flower
Vastu Tips of Flowerwww.raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्व होता है जिसे लेकर कई नियम भी बनाए गए हैं पूजा में कई तरह की सामग्रियों को इस्तेमाल किया जाता है इसके अलावा भगवान को प्रसन्न करने के लिए पुष्प भी चढ़ाए जाते हैं। लेकिन यदि आप भगवान को फूल चढ़ा रहे हैं और वह अगले दिन सूख जाते हैं, तो आप इन्हें बिल्कुल ना फेंके। आपको पता नहीं होगा कि भगवान को चढ़ाए जाने वाले फूल सूख जाने के बाद भी बड़े काम आते हैं। आज हम आपको बताएंगे की वास्तु के नियम के मुताबिक आप किन तरीकों से फूलों के जरिए घर में सुख-समृद्धि ला सकते हैं।

सूखे हुए फूलों को ऐसे करें इस्तेमाल

अगर आपको गार्डनिंग अच्छी लगती है और घर में फूल पौधे सब्जियां लगते हैं तो सूखे हुए फूलों को भी गमले में लगाकर नया फूल उगा सकते हैं। इस तरह से आपके घर का आंगन हरा भरा रहेगा और सौभाग्य में वृद्धि होगी। इसके अलावा यदि आप इन सूखे हुए फूलों को बांधकर रखते हैं तो आर्थिक परेशानियां भी दूर होती हैं।

फूलों से होगी बरकत

कई बार आप मंदिर में दर्शन करने जाते हैं तो आपको आशीर्वाद के रूप में फूल दिया जाता है। इन फूलों को फेंकने की बजाय लाल कपड़े में बांधकर घर की तिजोरी में रख लीजिए। ऐसी मान्यता है कि घर में हमेशा बरकत बनी रहती है सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।

सूखे फूल से अच्छी रहती है सेहत

अगर आपको मंदिर में प्रसाद के रूप में गेंदे का फूल या लाल गुलाब दिया जा रहा है तो आप प्रसाद के रूप में इसे ग्रहण कर सकते हैं स्वास्थ्य रूप से बिल्कुल फिट रहेंगे। इसके अलावा सूखे हुए फूलों को आप भोजन में मिलाकर ग्रहण भी कर सकते हैं सेहत अच्छी रहती है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.