राहुल की न्याय यात्रा को बंगाल में लगा खटका, ममता नहीं दे रही इजाजत, बीजेपी ने चुटकी

ममता बनर्जी ने कड़ा रुख अपनाते हुए राहुल गांधी कि भारत जोड़ो यात्रा को बंगाल में इजाजत नहीं दी जिसके बाद कांग्रेस पार्टी ममता के फैसले का विरोध कर रही है,तो वहीं बीजेपी गठबंधन पर चुटकी ले रही है
Mamta government did not give permission to Rahul's visit
Mamta government did not give permission to Rahul's visitSocial media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा बंगाल तक पहुंच गई है। मणिपुर से शुरू हुई इस यात्रा को ममता बनर्जी सरकार ने बंगाल में घुसने की इजाज़त नहीं दी। इसके बाद से कांग्रेस नेता बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर हमलावर हैं। आपको बता दें कि हाल ही में ममता बनर्जी ने ऐलान किया है कि बंगाल की सभी सीटों पर तृणमूल कांग्रेस अकेली चुनाव लड़ेगी।

कांग्रेस ने ममता पर बोला हमला

दरअसल टीएमसी और कांग्रेस लोकसभा सीटों के बंटवारे को लेकर चल रही तनातनी के चलते आमने-सामने हैं। ममता बनर्जी ने पहले कहा था कि वो बंगाल में कांग्रेस को ज्यादा से ज्यादा दो सीटें दे सकती है। इससे कांग्रेस सहमत नहीं थी, इस वजह से दोनों पार्टियों में तल्खियां बढ़ गईं। भारत जोड़ो न्याय यात्रा को बंगाल में इजाजत नहीं मिलने पर अधीर रंजन ने कहा जब राहुल गांधी कश्मीर से कन्याकुमारी की यात्रा कर रहे थे, तब इतनी दिक्कते नहीं आई थी। जहां-जहां डबल इंजन की सरकार है। वहां राहुल की यात्रा को रोका गया है। इस बीच उन्होंने टीएमसी का नाम लिए बिना कहा हम सिलीगुड़ी में जनसभा करने वाले थे लेकिन हमें स्थानीय सरकार से इजाजत नहीं मिली। यह हमारे लिए दुर्भाग्यपूर्ण है कि स्थानीय सरकार हमें प्रशासन देने में असमर्थ है।

बीजेपी ने चुटकी लेते हुए क्या कहा

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा को बंगाल में इजाजत नहीं मिलने पर भाजपा के आईटी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा कि यात्रा को इजाजत न देना इंडि गठबंधन के ताबूत में आखिरी कील ठोकने के बराबर है। ममता का यह फैसला कांग्रेस को अपमानित करने वाला है। ममता बनर्जी पूरी तरह से घबराई हुई है। वह ऐसा इसलिए कर रहीं हैं कि अगर कांग्रेस पश्चिम बंगाल में ज्यादा से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ती है तो उसका फायदा बीजेपी को होगा ना कि टीएमसी को होगा। राहुल की यात्रा को अनुमति न देना इंडिया गठबंधन खत्म होने जैसा है।

Related Stories

No stories found.