ममता ने रेल दुर्घटना के पीड़ितों को दो हजार के नोट दिए, BJP ने कहा- TMC काले धन को सफेद करने का तरीका ढूंढ़ रही

BJP ने ममता बनर्जी के ऊपर सवाल खड़े किए हैं कि बंगाल की सत्तारुढ़ पार्टी ने पीड़ितों को दो-दो लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी है। जिन लोगों को रुपये दिए गए हैं, उन्हें दो-दो हजार के नोट दिए गए हैं।
ममता ने रेल दुर्घटना के पीड़ितों को दो हजार के नोट दिए, BJP ने कहा- TMC काले धन को सफेद करने का तरीका ढूंढ़ रही

नई दिल्ली, रफ्तार न्यूज डेस्क। ओडिशा में हुई रेल दुर्घटना के पीड़ितों की मदद के लिए पश्चिम बंगाल सरकार खुलकर सामने आई है। सीएम ममता बनर्जी ने खुद कहा की ओडिशा और बंगाल सरकार पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए मिलकर काम कर रही है। उनके इस बयान के बीच बंगाल के भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने ममता बनर्जी के ऊपर सवाल खड़े किए हैं कि बंगाल की सत्तारुढ़ पार्टी ने पीड़ितों को दो-दो लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी है। जिन लोगों को रुपये दिए गए हैं, उन्हें दो-दो हजार के नोट दिए गए हैं। ऐसा कर टीएमसी अपने काले धन को सफेद करने का तरीका ढूंढ रही है।

दो-दो हजार के नोट ही क्यों दिए गए

मजूमदार ने ट्विटर पर एक वीडियो किया है। इसमें देखा जा सकता है कि पीड़ित परिवारों के हाथों में दो-दो हजार का नोट रखे हैं। ट्वीट के साथ उन्होंने लिखा, ‘ममता बनर्जी के निर्देश पर राज्य के एक मंत्री ने तृणमूल पार्टी की ओर से पीड़ित परिवारों को दो लाख की आर्थिक सहायता दी है। मैं इसकी सराहना करता हूं लेकिन इस संदर्भ में यह सवाल भी रख रहा हूं क्योंकि यह जो रुपये दिए गए हैं उसमें दो-दो हजार के नोट ही क्यों दिए गए हैं? इसका सोर्स क्या है?’

दो हजार का नोट देकर बढ़ाई परेशानी

सुकांत मजूमदार ने आगे लिखा कि बैंकों के माध्यम से 2000 का नोट बदलने की प्रक्रिया चल रही है तो जाहिर सी बात है इन रुपये को बैंक से नहीं उठाया गया है, बल्कि इसके जरिए टीएमसी अपने काले धन को सफेद करने का तरीका ढूंढ रही है। दूसरी ओर पीड़ित परिवारों को दो हजार का नोट देकर उनकी परेशानी बढ़ा दी है।

ममता बनर्जी पर उठाए सवाल

सुकांत ने राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था और बेरोजगारी पर भी सवाल खड़ा करते हुए कहा, ‘बालासोर ट्रेन हादसे में पीड़ित लोगों से मिलने के लिए मैं ओडिशा गया था। मैंने बंगाल लोगों से पूछा कि वह ट्रेन से कहां जा रहे थे तो कई लोगों ने बताया कि वे इलाज कराने जा रहे थे जबकि कुछ लोगों ने यह भी बताया कि वे दूसरे राज्य में काम की तलाश में जा रहे थे।
ट्वीट में ममता बनर्जी को टैग करते हुए उन्होंने पूछा कि मुख्यमंत्री जी क्या यही आपका सबसे आगे बंगाल है?

Related Stories

No stories found.