मोदी के खिलाफ लड़ने का बनाया था प्लान, नामांकन ही रद्द हो गया; श्याम रंगीला बोले- मैं रोऊं या हंसूं...

बुधवार को श्याम रंगीला का लोकसभा चुनाव 2024 के लिए नामांकन रद्द कर दिया गया। बता दें कि रंगीला वाराणसी से चुनाव लड़ने जा रहे थे। यह वही सीट है जिससे पीएम मोदी लड़ते हैं।
Shyam Rangeela and Narendra Modi
Shyam Rangeela and Narendra Modiraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। बुधवार को श्याम रंगीला का लोकसभा चुनाव 2024 के लिए नामांकन खारिज कर दिया गया। बता दें कि रंगीला वाराणसी से चुनाव लड़ने जा रहे थे। यह वही सीट है जिससे पीएम मोदी लड़ते हैं। पेशे से श्यान रंगीला एक कॉमिडियन हैं। एक वीडियो जारी कर रंगीला ने दावा किया कि 55 उम्मीदवारों में से 36 उम्मीदवारों का फॉर्म रद्द कर दिया गया, जबकि 15 उम्मीदवार, जिसमें पीएम मोदी और कांग्रेस नेता अजय राय शामिल हैं, उनके हलफनामे प्रक्रिया को पास कर गए।

रंगीला ने लगाए आरोप

रंगीला ने आरोप लगाए हैं कि नामांकन की प्रक्रिया में कई प्रकार की बाधाओं के साथ उन्हें समय पर अपने दस्तावेज जमा नहीं करने दिए गए। उन्होंने जिला मजिस्ट्रेट ऑफिस तक पर आरोपो मढ़ दिए। उन्होंने कहा कि ऑफिस की तरफ से भी उन्हें नामांकन दाखिल करते समय किसी प्रकार की मदद नहीं की गई।

क्या कहा रंगीला ने

श्याम रंगीला ने कहा कि जिला मजिस्ट्रेट ने उन्हें कहा कि उनके कागजों में कुछ कमी थी और उन्होंने शपथ नहीं ली थी। रंगीला ने कहा कि उनके वकीलों को उनके साथ अंदर नहीं जाने दिया गया, उन्हें अकेला ही अंदर बुलाया गया। उन्होंने यह भी कहा कि उनके एक मित्र को पीटा भी गया। रंगीला ने कहा कि मोदी जी भले ही एक्टिंग करें और रो लें, लेकिन मैं यहां रोने के लिए नहीं खड़ा हूं। रंगीला ने आगे कहा कि 27 फॉर्म मंगलवार को जमा किए गए थे और बुधवार को 32 को रद्द कर दिया गया, मुझे चुनाव आयोग पर हंसी आ रही है।

डीएम ऑफिस का जवाब

वाराणसी डीएम एस राजलिंगम ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोसट कर लिखा कि रंगीला को उनकी मौजूदगी में उसके कागजों में कमी के बारे में बताया गया था। उनके पोस्ट में बताया गया कि रंगीला का नामांकम पत्र रद्द किया गया है, क्योंकि हलफनामा पूरी तरह नहीं भरा गया था और साथ आपने शपथ नहीं ली थी। पोस्ट में बताया गया कि रंगीला को नामाकंम पत्र रद्द करने के कारण की कॉपी उन्हें दी गई है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.