Rajya Sabha Elections: सपा विधायकों ने किया अखिलेश यादव के साथ 'खेला'! हिमाचल प्रदेश में सुक्खू सरकार पर खतरा

Rajya Sabha Elections: देश के तीन राज्यों में राज्यसभा की 15 सीटों पर जिसमें उत्तर प्रदेश कोटे की 10, कर्नाटक की चार और हिमाचल प्रदेश की एक सीट के लिए वोटिंग चल रही है।
Parliament House
Parliament House Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में जल्द लोकसभा चुनावों का आगाज होने जा रहा है। ऐसे में देश के तीन राज्यों में राज्यसभा की 15 सीटों पर जिसमें उत्तर प्रदेश कोटे की 10, कर्नाटक की चार और हिमाचल प्रदेश की एक सीट के लिए वोटिंग चल रही है। इन राज्यों में राज्यसभा चुनाव को लोकसभा के लिटमस टेस्ट के तौर पर देखा जा रहा है। तीनों राज्यों में राज्यसभा चुनाव को लेकर भारी सियासी उठापटक चल रहीं है। लेकिन उत्तर प्रदेश में यह स्थिति थोड़ी और भी अलग है।

अखिलेश यादव के साथ पार्टी विधायकों ने किया ‘खेला’

आपको बता कि राज्यसभा चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश कोटे में कुल 10 सीटें है। लेकिन इसके लिए कुल 11 प्रत्याशी मैदान में है, जिनमें से आठ भाजपा और तीन सपा के हैं। चुनाव परिणाम देर रात तक आने की संभावना है। लेकिन चुनाव में सपा विधायकों के क्रॉस वोटिंग ने अखिलेश यादव के समीकरण को बिगाड़ दिया है। राज्यसभा चुनाव में आखिरकार सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ पार्टी विधायकों ने ही ‘खेला’ कर दिया है।

सपा विधायक मनोज पांडेय ने की क्रॉस वोटिंग

आपको बताते चले कि सपा के तीन विधायक वोटिंग करने बीजेपी नेताओं के साथ विधानमंडल पहुंचे थे। इसमें राकेश पांडेय, अभय सिंह और राकेश प्रताप सिंह शामिल थे। इन तीनों सपा विधायकों ने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर वोट करने की बात कही है। इसके साथ ही सपा विधायक मनोज पांडेय ने भी वोटिंग से पहले मुख्य सचेतक पद से इस्तीफा दे कर बीजेपी के पक्ष में वोट कर दिया। इसके साथ सपा विधायक मुकेश वर्मा और हाकिम चंद्र बिंद ने भी बीजेपी के समर्थन में वोट किया है।

यूपी में सपा के 8 विधायक हुए बागी

समाजवादी पार्टी के बागी विधायकों ने सपा के तिसरे उम्मीदवार आलोक रंजन के उच्च सदन पहुंचने की उम्मीदों पर ग्रहण लगा दिया है। सपा विधायकों के क्रॉस वोटिंग से ऐसा लग रहा है कि बीजेपी के सभी आठ उम्मीदवारों की जीत तय है। यूपी में सपा के 8 बागी विधायकों राकेश प्रताप सिंह, राकेश पांडे, अभय सिंह, मनोज पांडे, पूजा पाल, विनोद चतुर्वेदी, महराजी प्रजापति और आशुतोष मौर्य ने बीजेपी के पक्ष में मतदान किया है। ऐसे में ये माना जा रहा है कि बीजेपी के आठवें कैंडिडेट संजय सेठ की जीत लगभग तय है।

सुक्खू सरकार के खिलाफ भाजपा ला रहीं अविश्वास प्रस्ताव

इसके साथ हिमाचल प्रदेश में भी राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग खत्म हो गई है। फिलहाल, अब नतीजों का इंतजार किया जा रहा है। आपको बता दें कि हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस के 9 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है। जिसके बाद यहां का पूरा सियासी समीकरण बदलता नजार आ रहा है। हिमाचल में राज्यसभा की एक सीट के लिए मतदान जारी है। सभी 68 विधायकों ने अपना वोट डाला है। बीजेपी के उम्मीदवार हर्ष महाजन का कहना है कि हमने चुनाव को दिलचस्प बनाया है। उन्होंने दावा किया कि मेरे जीतते ही कांग्रेस की सरकार गिर जाएगी। बता दें की हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस ने अभिषेक मनु सिंघवी को प्रत्याशी बनाया है, जबकि बीजेपी ने हर्ष महाजन को प्रत्याशी बनाकर चुनाव में उतारा है। अब शाम को राज्यसभा चुनाव के नतीजे समने आने वाले है। ऐसे में हिमाचल प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी सुक्खू सरकार के खिलाफ में अविश्वास प्रस्ताव (No Trust Motion) लाने जा रहीं है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.