निशिकांत दुबे का बड़ा दावा, बोले राज्य में लगना चाहिए राष्ट्रपति शासन; सोरेन के भाई-भाभी मेरे संपर्क में

Hemant Soren: भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने दावा किया कि हेमंत सोरेन के भाई-भाभी उनके संपर्क में हैं। और मैं राज्यपाल से संविधान के अनुच्छेद 355 के तहत एक रिपोर्ट भेजने का अनुरोध करता हूं।
Hemant Soren, Nishikant Dubey
Hemant Soren, Nishikant DubeyRaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। झारखंड में इस वक्त सियासत और ED का नया खेल चल रहा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मुश्किलें कम होने का नीम नहीं ले रहीं है। कथित भूमि घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के दौरान प्रवर्तन निदेशालय ने झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के दिल्ली आवास पर छामेमारी की थी। जहां रेड के दौरान ED ने 36 लाख रुपये जब्त की है। इस दौरान ईडी ने यहा से कई अहम दस्तावेज भी बरामद किया है।

सीएम सोरेन के भाई और भाभी से मेरी बात हुई- निशिकांत दुबे

हेमंत सोरेन के खिलाफ चल रहीं ईडी की जांच के बीच बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने बड़ा दावा किया है। सांसद निशिकांत दुबे ने दावा किया कि हेमंत सोरेन के भाई-भाभी उनके संपर्क में हैं। और उन्होंने कहा कि मेरी सीएम सोरेन के भाई और भाभी से बात हुई है। उन्होंने कहा कि सोरेन के भाई और भाभी इस बात से दुखी हैं कि JMM का गठन शिबू सोरेन और दुर्गा सोरेन ने किया था, लेकिन वह अपनी पत्नी को सीएम पद की जिम्मेदारी देना चाहते हैं। उनकी इस बात से कोई भी इससे सहमत नहीं है।

झारखंड में लागू हो राष्ट्रपति शासन- निशिकांत दुबे

इसके साथ बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने आगे कहा कि मैंने राज्यपाल से संविधान के अनुच्छेद 355 के तहत एक रिपोर्ट भेजने का अनुरोध करता हूं। मुझे लगता है कि झारखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने का यह सबसे सही अवसर है। निशिकांत दुबे ने कहा कि सीएम हेमंत सोरेन फरार हैं और एजेंसी का सामना नहीं कर रहे। एक मतदाता, सांसद और झारखंड का नागरिक होने के नाते मेरा सिर शर्म से झुक गया है।

सोरेन परिवार के पास 82 संपत्तियां

उन्होंने कहा- 'मैंने लोकपाल से शिकायत की थी और सीबीआई ने इसकी प्रारंभिक जांच की थी। आपको जानकर हैरानी होगी कि सोरेन परिवार के पास 82 संपत्तियां हैं। उन्होंने न तो आयकर के समक्ष और न ही अपने चुनावी हलफनामे में इस संपत्ति का कोई जिक्र किया है। उन्होंने दो साल तक लोकपाल जांच को रोक दिया था। अगर यह मामला 2024 में खुलता है तो सोरेन परिवार में कोई भी चुनाव लड़ने के योग्य नहीं होगा।'

बाबूलाल मरांडी ने CM को खोजने वाले के लिए किया 11 हजार रुपये का इनाम घोषित

इसके साथ भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी ने सोशल मीडिया साइट ‘एक्स’ पर लिखा कि हमारे राज्य के मुख्यमंत्री केंद्रीय एजेंसियों के डर के मारे पिछले करीब 40 घंटे से लोकलाज त्याग कर लापता हैं। चेहरा छिपाकर भागे-भागे फिर रहे हैं। यह न सिर्फ मुख्यमंत्री की निजी सुरक्षा के लिए खतरा है, बल्कि झारखंड की साढ़े तीन करोड़ जनता की सुरक्षा, इज्जत, मान-सम्मान भी खतरे में है। बाबूलाल मरांडी ने लिखा है कि जो कोई भी बिना विलंब हमारे इस ‘होनहार’ मुख्यमंत्री को सकुशल खोजकर लायेगा, उसे मेरी तरफ से 11 हजार रुपये का इनाम दिया जायेगा।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.