NCRB की रिपोर्ट पर, DCW चीफ स्वाति मालीवाल ने जताई चिंता; कहा- राजधानी दिल्ली में सुरक्षित नहीं है महिलाएं

New Delhi: DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की वार्षिक अपराध रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि महिला सुरक्षा के मुद्दे को राजनीति से दूर रखने की ज़रूरत है।
Swati Maliwal
Swati MaliwalRaftaar.in

नई दिल्ली, हि.स.। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की वार्षिक अपराध रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने कहा कि महिला सुरक्षा के मुद्दे को राजनीति से दूर रखने की ज़रूरत है। स्वाति ने 'एक्स' (पूर्व में ट्वीटर) पर लिखा है कि 'एक बार फिर हर साल की तरह हमारी सुंदर प्यारी दिल्ली महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित शहरों की सूची में शामिल है। दिल्ली महिला आयोग ने पिछले 8 साल में महिलाओं की मदद के लिए हर संभव कोशिश की है।'

महिला सुरक्षा ऐसा मुद्दा है जिसे राजनीति से दूर रखने की ज़रूरत

उन्होंने आगे लिखा है कि 'महिला सुरक्षा ऐसा मुद्दा है जिसे राजनीति से दूर रखने की ज़रूरत है। बेटियां किसी पार्टी की नहीं, हमे मिलकर दिल्ली को सुरक्षित बनाना है। रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली की महिलाओं के साथ सबसे अधिक आपराधिक घटनाएं हुई हैं। 2022 में 14,158 केस दर्ज हुए, जिनमें से 3909 अपहरण की घटनाएं, रेप की 1204 घटनाएं, दहेज हत्या की 129 घटनाएं और पतियों या रिश्तोदारों द्वारा क्रूरता की 4847 घटनाएं दर्ज हुई हैं।

NCRB की रिपोर्ट के अनुसार

सोमवार को जारी राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की वार्षिक अपराध रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत साल 2022 में कुल 2,98,988 मामले दर्ज किए गए। 2021 में 2,89,045 मामले दर्ज किए गए थे। पिछले वर्ष की तुलना में इन घटनाओं में 3.3 फीसदी का इजाफा दर्ज हुआ है। वहीं 2020 में दर्ज किए गए मामलों की कुल संख्या 2,45,844 थी।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.