Arvind Kejriwal
Arvind Kejriwalraftaar.in

अरविंद केजरीवाल ने खालिस्तानी समर्थक संगठन से लिया 133 करोड़ का चंदा? दिल्ली LG ने NIA जांच की सिफारिश की

दिल्ली के उपराज्यपाल नेअरविंद केजरीवाल के खिलाफ NIA जांच की सिफारिश की है। अपनी सिफारिश में LG ने अरविंद केजरीवाल की लिखी चिट्ठी का हवाला दिया है।

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने उनके खिलाफ NIA जांच की सिफारिश की है। LG की तरफ से कहा गया है कि अरविंद केजरीवाल ने आतंकी संगठन 'सिख फॉर जस्टिस' के इकबाल सिंह को चिट्ठी लिखी थी और संगठन से 16 मिलियन डॉलर यानी करीब 133 करोड़ रुपये का चंदा लिया था।

केजरीवाल की चिट्ठी के बाद खालिस्तान समर्थक ने तोड़ा था अनशन

साल 2014 में 'सिख फॉर जस्टिस' का इकबाल सिंह जंतर-मंतर पर अनशन के पर बैठा था। उसकी मांग थी कि 1993 बम ब्लास्ट केस के दोषी देविंदर पाल सिंह भुल्लर उर्फ प्रोफेसर भुल्लर को रिहा करने का लिखित आश्वासन दिया जाए। तब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी भुल्लर की सज़ा कम करने को लेकर राष्ट्रपति को पत्र लिखा था। LG ने NIA जांच की अपनी सिफारिश में लिखा है कि तब केजरीवाल ने इकबाल सिंह को भी पत्र लिखा था, जिसके बाद इकबाल सिंह ने अपना अनशन वापस ले लिया था।

खालीस्तानी समर्थक संगठन से लिया 133 करोड़ का चंदा

अपनी सिफारिश में LG ने खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू के एक वीडियो का भी हवाला दिया है। इस वीडियो में पन्नू ने दावा किया था कि 2014 से 2022 के बीच आम आदमी पार्टी ने खालिस्तान समर्थक संगठनों से 16 मिलियन डॉलर यानी करीब 133 करोड़ रुपये का चंदा लिया। पन्नू ने अपने वीडियो में ये दावा भी किया कि 2014 में अपने न्यूयॉर्क दौरे में अरविंद केजरीवाल ने खालिस्तानी नेताओं से बंद कमरे में मुलाकात भी की थी। पन्नू ने वीडियो में दावा किया था कि भुल्लर की रिहाई के एवज में आप को 16 मिलियन डॉलर दिए गए थे।

NIA जांच की LG की सिफारिश को आम आदमी पार्टी ने साजिश बताया है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.