Land For Job Scam: लैंड फॉर जॉब केस में सीबीआई ने मांगा समय, अगली सुनवाई 15 जनवरी को

Land For Job Scam: दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट ने लैंड फॉर जॉब मामले में सीबीआई को आरोपियों को चार्जशीट से संबंधित दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए समय दे दिया है।
लालू प्रसाद यादव
लालू प्रसाद यादवRaftaar

नई दिल्ली, (हि.स.)। दिल्ली के राऊज एवेन्यू कोर्ट ने लैंड फॉर जॉब मामले में सीबीआई को आरोपियों को चार्जशीट से संबंधित दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए समय दे दिया है। स्पेशल जज विशाल गोगने ने मामले की अगली सुनवाई 15 जनवरी को करने आदेश दिया।

हाई कोर्ट ने दिया मामले का ट्रायल जल्द निपटाने का निर्देश

सुनवाई के दौरान आज सीबीआई ने कहा कि इस मामले के जांच अधिकारी का ट्रांसफर हो गया है, इसलिए उन्हें दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए समय चाहिए। उसके बाद कोर्ट ने 15 जनवरी तक का समय देते हुए कहा कि अब आगे सुनवाई टाली नहीं जाएगी। हाई कोर्ट ने भी इस मामले का ट्रायल जल्द निपटाने का निर्देश दिया है।

लैंड फॉर जॉब घोटाला लालू यादव के रेल मंत्री रहने के दौरान का है

कोर्ट ने 20 दिसंबर 2023 को सीबीआई को निर्देश दिया था कि वो आरोपितों को चार्जशीट से संबंधित दस्तावेज उपलब्ध कराए। लैंड फॉर जॉब मामले में सीबीआई ने भोला यादव और हृदयानंद चौधरी को गिरफ्तार किया था। भोला यादव 2004 से 2009 तक लालू यादव के ओएसडी रहे थे। लैंड फॉर जॉब घोटाला लालू यादव के रेल मंत्री रहने के दौरान का है। भोला यादव को ही इस घोटाले का मास्टरमाइंड माना जा रहा है। आरोप है कि लालू यादव के रेल मंत्री रहते नौकरी के बदले जमीन देने के लिए कहा जाता था। नौकरी के बदले जमीन देने के काम को अंजाम देने का काम भोला यादव को सौंपा गया था।

सीबीआई ने मई के तीसरे सप्ताह में 17 ठिकानों पर छापेमारी की थी

भोला यादव 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव में बहादुरपुर सीट से विधायक चुने गए थे। सीबीआई ने मई के तीसरे सप्ताह में इस मामले में लालू यादव के परिजनों से जुड़े 17 ठिकानों पर छापेमारी की थी। सीबीआई ने लालू, राबड़ी और बेटी मीसा भारती के पटना, गोपालगंज और दिल्ली स्थित ठिकानों पर छापेमारी की थी।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.