रैट-होल माइनर के घर पर चला बुलडोजर, पत्नी बोली- 'मेरे हसबैंड तो हीरो थे...'; विपक्ष ने केंद्र सरकार को घेरा

Delhi News: दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने एक अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान रैट माइनर के घर पर भी बुलडोजर चला दिया।
 रैट-होल माइनर वकील हसन की पत्नी
रैट-होल माइनर वकील हसन की पत्नी raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने एक अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान उस रैट माइनर के घर पर भी बुलडोजर चला दिया , जिसने पिछले साल उत्तराखंड में उत्तरकाशी की सिल्कयारा सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों की जान बचाने में अपने साथियों के साथ मिलकर कार्य किया था।

हसन को एक वीडियो में साफ साफ यह कहते हुए देखा जा सकता है

दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने खजूरी खास में बुधवार को कई घरो को तोड़ा, डीडीए के इस अभियान के दौरान रैट-होल माइनर वकील हसन का घर भी तोडा गया, जिससे वह बेघर हो गए। हसन को एक वीडियो में साफ साफ यह कहते हुए देखा जा सकता है कि डीडीए के अधिकारियों ने बिना किसी नोटिस जारी किये उनका घर तोड़ दिया। उन्होंने बताया कि उनका घर ही एकमात्र ऐसी चीज है, जो उन्होंने उत्तराखंड बचाव अभियान के लिए पुरस्कार के रूप में मांगी थी। लेकिन दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने बिना किसी नोटिस के उनका घर तोड़ डाला।

इसको लेकर विपक्ष सरकार पर हावी होती नजर आयी

इसको लेकर विपक्ष सरकार पर हावी होती नजर आयी। पीड़ित परिवार का मुद्दा उठाते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने रैट माइनर की पत्नी का वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर शेयर करते हुए लिखा “मेरे हसबैंड तो हीरो थे उत्तरकाशी के… 41 लोगों की जान बचाई थी उन्होंने… सब उन्हें सम्मान दे रहे थे। आज उस सम्मान के बदले मेरा मकान ले लिया!” वकील हसन ने अपनी जान जोखिम में डालकर उत्तरकाशी सुरंग में फंसे मजदूरों की जान बचाई थी। तब अपने प्रचार के लिए भाजपा के बड़े-बड़े नेताओं ने उनके साथ तस्वीरें खिंचवाईं थीं। जब प्रचार खत्म हो गया तो आज उसी वकील हसन को थाने में बंद कर दिया और उनका घर तोड़कर उनके बच्चों के सिर से छत छीन ली। गरीबों का घर तोड़ना, उन्हें कुचलना, प्रताड़ित और अपमानित करना - यह अन्याय ही भाजपा के “अन्यायकाल” की सच्चाई है। जनता इस अन्याय का जवाब जरूर देगी।

उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक घर दिलवाएंगे

इस मामले को लेकर भाजपा नेता मनोज तिवारी ने बड़ा बयान दिया है और कहा है कि उनके घर का कोई कानूनी मसला था। हमने इस विषय में चर्चा की है और उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक घर दिलवाएंगे।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.