Mission 2024: लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा बना रही बड़ा प्लान, जानें क्या है 400 सीटें जीतने का दांव?

Lok Sabha Election 2024: आगामी लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा ने 400 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। भाजपा की शीर्ष नेतृत्व इस टारगेट को पूरा करने के लिए कई तरह की रणनीतियां बना रही है।
Amit Shah, Narendra Modi and Jp Nadda
Amit Shah, Narendra Modi and Jp Naddaraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। आगामी लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा ने 400 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। भाजपा की शीर्ष नेतृत्व इस टारगेट को पूरा करने के लिए कई तरह की रणनीतियां बना रही है। जिसमे पार्टी के बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने योजना बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। सूत्रों के अनुसार भाजपा ने अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है, जिसके अंतगर्त पार्टी ने दूसरे दलों के नेताओं को भी भाजपा में शामिल करने की योजना बनाई है। इस योजना को अमली जामा देने के लिए पार्टी ने महासचिवों को अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंपी हैं।

भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने विनोद तावड़े को जॉइनिंग कमेटी प्रभार सौंपा

सूत्रों के अनुसार, भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने विनोद तावड़े को जॉइनिंग कमेटी प्रभार सौंपा है। यही कमेटी( जॉइनिंग कमेटी) अन्य दलों के साफ सुथरी छवि वाले नेताओ और सांसदों को भाजपा में शामिल कराने का कार्य करेगी। पार्टी उन्ही जगहों पर विकल्प के रूप में दूसरे दलों के नेताओं को चुनेगी जहां पार्टी को लगेगा की जीतने वाला उम्मीदवार नहीं है। भाजपा किसी भी हालत में आगामी लोकसभा चुनाव में पीछे नहीं रहना चाहती है।

विजन डॉक्यूमेंट बनाने का कार्य पार्टी ने राधा मोहन दास अग्रवाल को सौंपा

भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने आगामी लोकसभा चुनाव 2024 के लिए विजन डॉक्यूमेंट बनाने का कार्य पार्टी के महासचिव राधा मोहन दास अग्रवाल को सौंप दिया है। अन्य कार्यो की जिम्मेदारी सुनील बंसल और दूसरे महासचिवों को दे दी गयी है। वहीं दुष्यंत गौतम को देशभर में बौद्ध सम्मेलन का आयोजन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्य और उपलब्धियों को लोगो तक बताने की जिम्मेदारी मिली है।

बीजेपी का कर्नाटक में अपने आधे से ज्यादा मौजूदा सांसदों को बदलने की योजना

भाजपा का आगामी लोकसभा चुनाव 2024 जीतने का बड़ा प्लान है, इस बार पार्टी देशभर में अपने सिटिंग सांसदों में से 40 फीसदी सांसदों के चुनाव टिकट को काट सकती है। बीजेपी कर्नाटक में अपने आधे से ज्यादा मौजूदा सांसदों को बदलने की योजना बना रही है। भाजपा की सूची में पूर्व केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा का नाम भी है, यह बात अलग है कि वह राजनीति से संन्यास लेने का पहले ही ऐलान कर चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी ने सांसदों की बढ़ती उम्र और पिछले खराब प्रदर्शन को देखते हुए यह निर्णय लिया है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.