2025 तक देश के 121 एयरपोर्ट्स को कार्बन मुक्त करने का लक्ष्य : सिंधिया

भारत के 25 हवाईअड्डे 100 फीसदी हरित ऊर्जा का उपयोग कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य है कि अन्य 121 हवाईअड्डे 2025 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को प्राप्त करेंगे।
केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया
केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया

नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि देश के 25 हवाईअड्डे सौ फीसदी हरित ऊर्जा का उपयोग कर रहे हैं। देश के अन्य 121 हवाईअड्डे भी शून्य कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को 2025 तक हासिल कर लेंगे। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को यहां दो दिवसीय ‘यूरोपीय संघ-भारत विमानन शिखर सम्मेलन’ को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए यह बात कही।

2030 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन का लक्ष्य

दरअसल, नागर विमानन मंत्री सिंधिया कोरोना से संक्रमित होने के कारण इस सम्मेलन में प्रत्यक्ष रूप से उपस्थित नहीं हो सके। सिंधिया ने कहा कि कार्बन उत्सर्जन में विमानन उद्योग की हिस्सेदारी पर कड़ी नजर है। विमानन उद्योग से कार्बन उत्सर्जन को कम करने और इसके असर को दूर करने के लिए हमने कई कदम उठाए हैं। सिंधिया ने कहा कि ‘हम अपने हवाईअड्डों को वर्ष 2024 तक हरित ऊर्जा का इस्तेमाल करने और 2030 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

25 हवाईअड्डे 100 फीसदी हरित ऊर्जा का उपयोग कर रहे

उन्होंने कहा कि भारत के 25 हवाईअड्डे 100 फीसदी हरित ऊर्जा का उपयोग कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य है कि अन्य 121 हवाईअड्डे 2025 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को प्राप्त कर लें। उल्लेखनीय है कि दो दिवसीय इस शिखर सम्मेलन में यूरोपीय संघ और भारत के बीच हवाई परिवहन संबंध और दोनों क्षेत्रों में परस्पर साझा चुनौतियों और अवसरों पर बातचीत होगी। इस सम्मेलन में ईयू और भारत के शीर्ष स्तर के नीति निर्माता तथा उद्योग जगत के अधिकारी और हितधारक शामिल होंगे।

Related Stories

No stories found.