ग्रीस में समलैंगिक विवाह को मिली मंजूरी, लेस्बियन और गे; विवाह को मान्यता देने वाला ग्रीस पहला ईसाई देश

ग्रीस की संसद ने इतिहासिक फैसला देते हुए समलैंगिक विवाह को मंजूरी दे दी है। ऐसा करने वाला ग्रीस विश्व का पहला ईसाई देश भी बन गया। फैसले के बाद अब लेस्बियन और गे आपस में शादी कर सकते है।
Same-sex marriage approved in Greece
Same-sex marriage approved in GreeceSocial media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। greece same sex marriage : ग्रीस पिछले कुछ सालों से एक मामले को लेकर सुर्खियों में था। जिसे अब जिसे अब ग्रीस की संसद नहीं अमलीजामा पहना दिया है। दरअसल सिकंदर की जन्मभूमि कहे जाने वाले ग्रीस की संसद ने एक ऐतिहासिक फैसला लेते हुए समलैंगिक विवाह की मंजूरी वाले प्रस्ताव को पास कर दिया है। प्रभावशाली और कट्टर चर्चा के भारी विरोध के बीच इस प्रस्ताव पर सहमति बनी। फैसले के बाद ग्रीस के लेस्बियन और गे आपस में शादी कर सकेंगे। आपको बता दें कि ग्रीस ऐसा ऐतिहासिक फैसला सुनाने ग्रीस ऐसा ऐतिहासिक फैसला करने वाला पहले रूढ़िवादी ईसाई देश बन गया है।

विरोध के बीच पास हुआ बिल

ग्रीस की संसद में जब समलैंगिक बिल पर चर्चा की जा रही थी तो इस पर जमकर हंगामा देखने को मिला। ग्रीस की संसद में 300 सदस्य होते हैं। और बहुमत हासिल करना इतना आसान नहीं था। बिल को प्रधानमंत्री का समर्थन हासिल था। लेकिन बिल को विपक्षी दलों के समर्थन की जरूरत थी। विपक्षी दल यानी सेंटर राइट दल के सांसद इसके विरोध में थे। लगभग 30 घंटे की कड़ी बहस के बीच मतदान हुआ। जिसमें 254 लोगों ने मतदान किया। बिल के पक्ष में 176 जबकि विपक्ष में 76 वोट पड़े। इसके बाद बिल पास हो गया। बिल को मंजूरी मिलते ही ग्रीस के प्रधानमंत्री ने खुशी जताते हुए कहा कि मानवधिकारों की एक ऐतिहासिक जीत है। आपको बता दें कि आर्थोडॉक्स चर्च के प्रमुख इसके विरोध में थे। उनका मानना है कि यह बिल ग्रीस की सामाजिक एकता को बर्बाद करेगा।

इन देशों में लागू है समलैंगिक विवाह

ग्रीस समलैंगिक विवाह को मंजूरी देने वाला पहला ईसाई देश बना है। लेकिन इससे पहले भी कई ऐसे देश है। जहां समलैंगिक विवाह को मान्यता मिल चुकी है। इससे पहले नीदरलैंड में साल 2001 में समलैंगिक विवाह को मंजूरी मिली। डेनमार्क ने 2012 में मंजूरी दी। इसके अलावा ताइवान, अर्जेंटीना, बेल्जियम,पुर्तगाल, स्पेन, इंग्लैंड, वेल्स, कोस्टा रिका,कनाडा, साउथ अफ्रीका, नार्वे, ब्राजील,स्वीडन और आइसलैंड है। आपको बता दें कि भारत की सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक विवाह को मंजूरी देने से मना कर दिया था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- Hindi News Today: ताज़ा खबरें, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, आज का राशिफल, Raftaar - रफ्तार:

Related Stories

No stories found.